सचिवों की समिति करेगी विभागीय समीक्षा

पुरानी फाइलों पर होगी चर्चा, चुनाव विभाग को रोजाना जाएगी रिपोर्ट

शिमला —  आदर्श चुनाव आचार संहिता के जारी रहने के साथ ही अब विभागीय समीक्षा का दौर भी चलेगा। विभागीय कामकाज को सुचारू बनाए रखने से पहले सचिवों की समिति सभी विभागों की समीक्षा करेगी और जानेगी कि किस विभाग में कौन से काम अटके हुए हैं और अभी उनको करना जरूरी है। इनकी योजनाओं पर भी बात होगी, वहीं बजट में शामिल योजनाओं पर भी चर्चा की जाएगी। सचिवों की यह समिति अपनी सिफारिशें फिर उस समिति को देगी, जो कि मुख्य सचिव की अध्यक्षता में चुनाव आयोग को अपनी सिफारिशें भेजेगी। सूत्रों के अनुसार सोमवार को इस सिलसिले में चर्चा की जाएगी और सचिव  स्तरीय कमेटी की बैठक रखी जाएगी, क्योंकि अब सरकारी कामकाज अधिकारियों द्वारा ही चलाया जाना है, लिहाजा सचिवों की कमेटी सभी विभागों के कामकाज पर चर्चा करेगी। यह कमेटी भी मुख्य सचिव की अध्यक्षता में है, जिसमें सभी विभागों के सचिव शामिल हैं। सभी विभागीय सचिव इसमें अपने-अपने विभागों के कामकाज को लेकर जानकारी देंगे और बताएंगे कि आगे चुनाव आयोग से क्या सिफारिशें की जा सकती हैं। बताया जाता है कि इस संबंध में चुनाव आयोग के निर्देश भी आ गए हैं जिसमें कहा गया है कि मुख्य सचिव अपने स्तर पर सभी विभागों के कामकाज को देखें।  यहां ये भी बता दें कि सचिवों की यह बैठक पिछले कई महीनों से नहीं हो सकी है। इस बीच प्रदेश में विधानसभा का चुनाव भी हो गया है और मतदान के बाद अब कामकाज अधिकारियों के पास ही है। विभागीय सचिवों की सिफारिशों पर ही आगे काम होेंगे, लेकिन कौन-कौन सी योजनाओं को मंजूरी मिल सकती है, यह विभागीय सचिवों की समिति तय करेगी।

समिति कल से काम पर

सचिव स्तरीय यह समिति सोमवार से विभागों से उनकी समीक्षा रिपोर्ट लेगी और मुख्यालयों से आने वाली रिपोर्ट पर अपने स्तर पर चर्चा के बाद मुख्य सचिव की अध्यक्षता वाली कमेटी को भेजेगी। कई दिनों के बाद सोमवार से सचिवालय में भी कामकाज तेज होगा। अभी तक सभी लोग खासकर प्रशासनिक मशीनरी चुनावी कार्यों में ही जुटी हुई थी, जिस बीच विभागों का रोजमर्रा का कामकाज भी प्रभावित हुआ।

You might also like