आरएसएस की तरह हो कांग्रेस संगठन

युकां अध्यक्ष एवं शिमला ग्रामीण विधायक विक्रमादित्य बोले, पार्टी की मजबूती को बेहद जरूरी

शिमला— युवा कांग्रेस के अध्यक्ष एवं शिमला ग्रामीण से विधायक विक्रमादित्य सिंह ने कहा है कि कांग्रेस संगठन भी आरएसएस की तरह होना चाहिए, जिसमें ऐसे कार्यकर्ता हों, जो कि पूरी तरह से संगठन के लिए न्योछावर हों। उन्होंने कहा कि इस बात को उन्होंने राहुल गांधी से भी उठाया है, जिनको कहा था कि ऐसे ट्रेंड कार्यकर्ता होने जरूरी हैं, जिससे कांग्रेस और मजबूती के साथ उभरेगी। यहां पत्रकारों से रू-ब-रू विक्रमादित्य सिंह ने कहा कि मुख्यमंत्री जयराम ठाकुर ने कांग्रेस पर 46 हजार 500 करोड़ का कर्जा छोड़ने की बात कही है, परंतु उनको यह जान लेना चाहिए कि 2800 करोड़ का कर्जा तो पहले धूमल सरकार ही प्रदेश पर छोड़ गई थी। ऐसे में नए मुख्यमंत्री को तथ्य जान लेने चाहिएं। उन्होंने कहा कि वर्तमान सरकार को विकास को तवज्जो देनी चाहिए। राजनीतिक द्वेष की भावना से काम नहीं होना चाहिए। भाजपा अपने संकल्प पत्र को पूरी तरह से लागू करे और केंद्र की मदद से यहां पर विकास करे उनकी यही उम्मीद है। उन्होंने कहा कि शिमला ग्रामीण क्षेत्र जहां से वह खुद विधायक हैं, में पिछली सरकार ने 1300 करोड़ रुपए के करीब के काम करवाए और अभी 1500 करोड़ के काम पाइपलाइन में हैं। ऐसे में वर्तमान सरकार किसी भी तरह से इन क्षेत्रों में लग रहे पैसे को राजनीति के आधार पर डाइवर्ट न करे। वहीं विक्रमादित्य ने कहा कि कांगे्रस के जो भी दिग्गज नेता हारे वह अपनी गल्तियों की वजह से है हारे हैं। उन्होंने माना कि संगठन की कमियां रही हैं, जिनको अब दूर किया जाना चाहिए।

अनुभवी ही चुना जाए नेता

विक्रमादित्य ने कहा कि कांग्रेस विधायक दल का नेता अनुभवी होना चाहिए। ऐसा विधायक जो तीन-चार बार जीता हो और सरकार की नीतियों की खिलाफत करने का दम रखता हो, ऐसा नेता ही कांग्रेस विधायक दल का नेतृत्व करे। इस संबंध में वे अपनी राय वीरवार को पर्यवेक्षकों को देंगे।

पदाधिकारियों पर होगी चर्चा

विक्रमादित्य ने कहा कि युवा कांग्रेस से जो पदाधिकारी पार्टी अध्यक्ष ने बाहर किए हैं, उन पर चर्चा की जाएगी। यदि वह लोग अनुशासनहीनता के दायरे में आते होंगे तो उनको बाहर रखा जाएगा, वरना वापस भी लिया जा सकता है।

You might also like