कुलपति बनने को 85 आवेदन

छंटनी के बाद जल्द बुलाई जाएगी सर्च कमेटी की बैठक, नियमों के आधार पर होगी तैनाती

शिमला — हिमाचल प्रदेश विश्वविद्यालय में कुलपति पद के लिए  85 के करीब आवेदन प्राप्त हुए हैं। अब प्राप्त आवेदनों की छंटनी प्रक्रिया कर विश्वविद्यालय कुलपति के नाम पर अंतिम मुहर लगाने के लिए सर्च कमेटी की बैठक एक-दो दिन में बुलाई जा सकती है। इस के बाद हिमाचल प्रदेश विश्वविद्यालय को नया और स्थायी कुलपति मिल जाएगा। इस बार कुलपति पद पर नियुक्ति के लिए न केवल प्रदेश से कई नाम दौड़ में हैं, बल्कि बाहरी राज्यों से भी लोगों ने आवेदन करने में रुचि दिखाई है। जानकारी के तहत छंटनी कमेटी द्वारा तय किए गए नामों का पैनल विश्वविद्यालय कुलाधिपति राज्यपाल आचार्य देवव्रत को भेजा जाएगा, जिसके बाद राज्यपाल व सरकार की सहमति से कुलपति पद पर नियुक्ति की जाएगी।  जानकारी के अनुसार कुलपति पद के लिए दो पूर्व कुलपतियों सहित 85 के करीब शिक्षकों ने आवेदन किए हैं। वर्तमान में हिमाचल प्रदेश विश्वविद्यालय के कार्यकारी कुलपति का पदभार देख रहे प्रो. राजेंद्र सिंह चौहान ने भी एचपीयू कुलपति पद के लिए आवेदन किया है।

इन नियमों पर होगी नियुक्ति

आवेदक के पास उच्च शिक्षा के क्षेत्र में प्रोफेसर पद में 10 वर्ष का अनुभव होना चाहिए। आवेदक के पास किसी फैकल्टी या विभाग में पांच वर्ष का अनुभव होना भी जरूरी है। उनके पास किसी रिसर्च इंस्टीच्यूट, बोर्ड ऑफ स्टडीज, अकादमिक परिषद, ईसी, सीनेट या बोर्ड ऑफ मैनेजमेंट का भी अनुभव होना चाहिए। इसके साथ ही यदि कोई आवेदक वर्तमान में किसी विभाग या संस्थान में कार्यरत है तो उन्हें विजिलेंस क्लीयरेंस की कॉपी भी आवेदन के साथ लगानी होगी।

प्रदेश से इन नामों पर हो रही चर्चा

हिमाचल प्रदेश विश्वविद्यालय में कुलपति पद की नियुक्ति के लिए जिन दावेदारों के नाम आगे आए हैं, उनमें विश्वविद्यालय के विभागों के प्रोफेसर तो  पूर्व कुलपति के साथ ही अन्य नाम भी चर्चा में है। जो नाम चर्चा में है उनमें प्रो. कुलवंत पठानिया, प्रो. पीके वैद, प्रो. शशिकांत लोमेश, प्रो. शशि धीमान, प्रो. प्रमोद, पूर्व कुलपति प्रो. सुनील गुप्ता, प्रो. महावीर सिंह और प्रो. सिकंदर कुमार के अलावा प्रो. जेबी नड्डा, प्रो. देशराज ठाकुर, प्रो. एसपी बंसल, डा. कुलभूषण चंदेल, प्रो. डीडी शर्मा सहित कई नाम शामिल है।

You might also like