चौपाल वन बीट में सिडार ऑयल

18 हजार लीटर तेल मिला, लगा रखी थीं 17 भट्ठियां

चौपाल, शिमला— शिमला के चौपाल में सिडार ऑयल निकालने के धंधे का पर्दाफाश हुआ है। धंधे का अंदाजा इस बात से लगाया जा सकता है कि वन विभाग ने अब तक जंगल से करीब 18 हजार लीटर से ज्यादा सिडार ऑयल बरामद किया है। वन विभाग की टीम ने 17 भट्ठियां भी नष्ट की हैं। वनरक्षक रवि शर्मा के खुलासे के बाद वन विभाग की टीमों ने जंगल में बड़े स्तर पर अभियान चलाया, जिसके बाद यह बरामदगी की गई है। चौपाल वनमंडल के सरैन वन रेंज में बड़े पैमाने पर सिडार ऑयल निकालने का काम किया जा रहा था। वन विभाग की टीम ने यहां से भारी मात्रा में सिडार ऑयल बरामद किया है। यहां तैनात वनरक्षक रवि शर्मा ने कुछ दिन पहले सोशल मीडिया पर एक वीडियो वायरल किया था, जिसमें इलाके में वन माफिया के सक्रिय होने की बात कही गई थी। रवि शर्मा अन्य साथियों के साथ बर्फबारी वाले दिन सिडार ऑयल पकड़ने गया था, लेकिन वन अधिकारियों ने इस काम में सहयोग नहीं दिया। इस वीडियो से वन विभाग में हड़कंप मच गया और इसके बाद इलाके में जांच के लिए 22 सदस्यीय टीम भेजी गई। यह टीम वन मंडल अधिकारी शिमला अमित शर्मा की अगवाई में वहां भेजी गई, जो कि जंगल में जांच में जुटी हुई है। विभाग की टीम ने अब तक वहां 18 हजार लीटर से ज्यादा की सिडार ऑयल बरामद किया है। वन विभाग ने यहां पहली रेड में 400 लीटर से ज्यादा तेल, दूसरी रेड में करीब 6800 लीटर और तीसरी रेड में 7200 लीटर और चौथी रेड में 3300 लीटर से ज्यादा सिडार ऑयल बरामद किया है। डीएफओ की अगवाई में गठित टीम ने शनिवार शाम तक जंगलों की खाक छानती रही, वहीं रविवार को भी जगल में टीम ने कार्रवाई जारी रखी। वन मत्री गोविंद ठाकुर ने भी मामला गंभीरता से लिया है और वन अधिकारियों को इस मामले में कार्रवाई के सख्त निर्देश दिए हैं। अब वन विभाग यहां कार्रवाई कर रहा है। सीसीएफ नागेश गुलेरिया ने खबर की पुष्टि की है।

रेंज अफसरों पर गिरी गाज

विभाग ने लापरवाही के लिए सरैन वन रेंज के आफिसर पुरुषोत्तम ठाकुर से शक्तियां छीन ली हैं। डीएफओ ने अतिरिक्त कार्यभार संभाल रहे रेंजर को पद से हटाया है। अब वह पहले की तरह डिप्टी रेंजर के पद पर ही कार्य करेंगे।

You might also like