डिपुओं में अब पतंजलि का भी सामान

खाद्य आपूर्ति निगम ने शुरू की कसरत, पतंजलि के पदाधिकारियों से बैठक

शिमला— राज्य सरकार उपभोक्ताओं को सस्ते राशन के साथ अब उचित मूल्यों की दुकानों के माध्यम से पतंजलि के उत्पाद भी उपलब्ध करवाएगी। इसके लिए सरकार ने कसरत शुरू कर दी है। इसी सिलसिले में खाद्य, नागरिक आपूर्ति एवं उपभोक्ता मामले मंत्री किशन कपूर ने शुक्रवार को शिमला में पतजंलि आयुर्वेद सीमित के पदाधिकारियों के साथ एक बैठक की। श्री कपूर ने कहा कि पतंजलि के उत्पादों में प्रदेश के लोगों की विश्वसनीयता और मांग को देखते हुए इन्हें सरकारी डिप्पुओं के माध्यम से जनता को उपलब्ध करवाया जाएगा। इन उत्पादों में विशेष रूप से खाद्य वस्तुएं, पेय उत्पाद, शर्बत, मसाले, होम-केयर, जूस, करियाने का सामान, तेल, दालें, सिरप इत्यादि शामिल हैं। उन्होंने कहा कि पतंजलि कई उत्पाद तैयार कर रहा है, विभाग द्वारा प्रयास किए जाएंगे कि दैनिक जीवन में उपयोग में लाए जाने वाले उत्पादों को उचित मूल्यों की दुकानों के माध्यम से उपलब्ध करवाया जाए। चरणबद्ध ढंग से राज्य में कार्यरत सभी डिपुओं में यह उत्पाद उपभोक्ताओं को उपलब्ध करवाए जाएंगे। उन्होंने कहा कि बाजार में खाद्य वस्तुओं विशेषकर दाल, चावल व आटे की दरों में उतार-चढ़ाव के कारण मंडियों का समुचित अध्ययन करने के उपरांत इनकी निविदाएं हर महीने की जाएंगी। उन्होंने नागरिक आपूर्ति निगम के अधिकारियों को इस संबंध में आवश्यक दिशा-निर्देश देते हुए कहा कि फरवरी के अंत तक पतंजलि उत्पादों की उपलब्धता को व्यवहार्य बनाने के लिए सभी औपचारिकताएं शीघ्र पूरी की जाएं। इस मौके पर राज्य नागरिक आपूर्ति निगम के प्रबंध निदेशक एसएस गुलेरिया ने पतंजलि उत्पादों की खरीद के संबंध में किए जा रहे प्रयासों के बारे में मंत्री को अवगत करवाया। बैठक में राज्य नागरिक आपूर्ति निगम के अधिकारी व पतंजलि आयुर्वेद लिमिटेड के प्रतिनिधि भी उपस्थित रहे।

You might also like