नूरपुर में अवैध धार्मिक भवन तोड़ा

हाई कोर्ट के आदेशों पर नगर परिषद ने खाली करवाया अतिक्रमण

नूरपुर— नूरपुर शहर के चौगान में अवैध रूप से बन रहे एक धार्मिक स्थल के भवन को हाई कोर्ट के आदेशों के बाद नगर परिषद ने गिरा दिया। यह कार्रवाई नगर परिषद के कार्यकारी अधिकारी आरएस वर्मा की अगवाई में की गई। इस दौरान  नूरपुर पुलिस के साथ धर्मशाला की बटालियन भी घटनास्थल पर तैनात थी, ताकि किसी भी प्रकार की कोई अप्रिय घटना न हो सके। गौरतलब है कि दो दिन पहले नगर परिषद की बैठक में उक्त धार्मिक भवन को तोड़ने को लेकर हाई कोर्ट के आदेशों की अनुपालना करने का प्रस्ताव पारित कर उक्त भवन को गिराने का नोटिस जारी कर दिया गया था। उसके बाद बुधवार सुबह दस बजे नगर परिषद ने कार्यकारी अधिकारी की अगवाई में उक्त अवैध भवन को गिरा दिया। उल्लेखनीय है कि 16 दिसंबर को हाई कोर्ट के आदेशानुसार उक्त धार्मिक स्थल के साथ प्रशासन ने दो अवैध कब्जों को गिराया था । तहसीलदार  नूरपुर जय गोपाल शर्मा ने बताया कि उक्त भूमि वक्फ  बोर्ड की संपत्ति है तथा इस भूमि पर अवैध रूप से निर्माण किया गया था। कार्यकारी अधिकारी आरएस वर्मा ने बताया कि  सिविल अस्पताल नूरपुर के सामने भवन निर्माण को लेकर   संचालकों ने नगर परिषद से नक्शे को लेकर कोई भी मंजूरी नहीं ली थी और अवैध रूप से इसके निर्माण का कार्य चला हुआ था ।

You might also like