हिमाचल में पद्मावत का खूब दिखा क्रेज

युवाओं में झलका फिल्म देखने का जुनून; कहीं भी अप्रिय घटना की सूचना नहीं, सिनेमा मालिक खुश, कड़ी सुरक्षा के बीच शो

शिमला— हिमाचल में संजय लीला भंसाली की फिल्म पद्मावत का गर्मजोशी के साथ स्वागत किया गया। दिलचस्प बात रही कि ग्रामीण अंचल से उठकर युवा इस फिल्म को देखने के लिए शहरों में पहुंचे थे। हालांकि मौसम में ठंडक के चलते फिल्म का पहला शो ज्यादातर सिनेमा हाल्स में ठंडा ही रहा, मगर इसके बाद युवाओं के सिर फिल्म देखने का जुनून बढ़-चढ़कर देखने को मिला।  जिला स्तर पर पुलिस पहरे के बीच फिल्म के शो दिखाए गए। प्रदेश के किसी भी हिस्से से इस विवादित फिल्म को लेकर किसी तरह की हिंसा या अप्रिय घटना की सूचना नहीं मिली है। जो भी फिल्म देखकर आया, उसका यही कहना था कि इस फिल्म में ऐसा कुछ भी विवादित नहीं था, जिसे लेकर बवाल खड़ा किया जा रहा है। यह फिल्म विवाद के ही चलते शायद आने वाले दिनों में बॉक्स आफिस पर हिट हो जाए। हिमाचल में तो ऐसे ही संकेत मिल रहे हैं, क्योंकि भारी ठंडक के बावजूद शिमला से लेकर ऊना तक फिल्म देखने वालों की कतारें दिन भर खिंचती रहीं। खास बात यह भी रही कि युवा दर्शकों में ज्यादा था, जबकि अन्य वर्ग कम। पहले रोज सुरक्षा के चलते भी लोग सहमे हुए दिखे। अब चूंकि पहले रोज ही कोई अप्रिय घटना पेश नहीं आई है, लिहाजा सिनेमा हाल मालिकों को भी अब उम्मीद बंधी है कि यह फिल्म उनकी मंशाओं के अनुरूप खरी उतर सकती है। अब आने वाले दिनों में हिमाचल से हटकर यह फिल्म अन्य शहरों में क्या गुल खिलाएगी, इस पर तो नजरें होंगी ही। हिमाचल से यह फिल्म कितना धन संजय लीला भंसाली की झोली में डालती है, यह भी देखना दिलचस्प होगा। बहरहाल, तमाम कयासों को धत्ता बताते हुए हिमाचल ने फिर से यह जता दिया है कि देवभूमि का कभी भी किसी विवाद से नाता न रहा है न ही रहेगा। शांत प्रदेश में फिल्म देखने वालों में स्थानीय लोगों के साथ-साथ ग्रामीण व सैलानी भी शामिल थे।

फिल्म में नहीं दिखा अनाप-शनाप

फिल्म देखने वाले लोगों का यही कहना था कि रानी पद्मावती को वे आदर भाव से देखते हैं। फिल्म में उन्हें ऐसा कुछ भी अनाप-शनाप नहीं दिखा, जिसे देखकर उन्हें भी अपनी संस्कृति व इतिहास को तोड़ने-मरोड़ने का अफसोस के साथ गुस्सा आता। कई लोग ऐसे भी थे, जो फिल्म को विवादित हुआ देखकर ही इसे देखने आए थे।

You might also like