जवाली —  उपमंडल रैहन के अंतर्गत राजा का तालाब स्थित बिजली ट्रांसफार्मर में अचानक आग लगने का मामला प्रकाश में आया है। जानकारी के अनुसार बुधवार को बाद दोपहर करीब डेढ़ बजे ट्रांसफार्मर में एकाएक आग लग गई, जिसकी सूचना स्थानीय लोगों ने बिजली बोर्ड के कार्यालय रैहन में दी। जानकारी मिलते ही एसडीओ बिजली

नगरोटा बगवां —  नगरोटा बगवां विधानसभा क्षेत्र तथा चिकित्सा खंड तियारा के अंतर्गत रौंखर गांव में पीलिया ग्रस्त 200 मरीजों की पहचान की खबर ज्यों ही प्रशासनिक गलियारों तक पहुंची, कई विभागों के साथ आम लोगों में भी हड़कंप मच गया। बुधवार प्रातः ही न केवल चिकित्सा खंड कार्यालय तियारा का पूरा अमला रौंखर पहुंच

चुराह, तीसा —  उपमंडल मुख्यालय भंजराडू़ स्थित परिवहन निगम की भूमि पर बनाए 37 अवैध खोखे बुधवार को प्रशासनिक अधिकारियों की मौजूदगी में गिरा दिए गए। बुधवार सवेरे ही परिवहन निगम के डीडीएम अनूप राणा की अगवाई में एक टीम क्रेन सहित मौके पर पहुंच गई। मगर खोखाधारकों से विभागीय कार्रवाई से बचने के लिए

शिमला  — शिमला में बुधवार को जिला परिषद की त्रैमासिक बैठक का आयोजन किया गया। बैठक का आयोजन अध्यक्ष जिला परिषद शिमला, चंद्रेश्वर प्रसाद की अध्यक्षता में हुआ। जिला परिषद की त्रैमासिक बैठक में मनरेगा के अंतर्गत 13वें वित्तायोग में 88 लाख 74 हजार की अनुदान राशि की शैल्फ पारित की गई। बैठक हंगामेदार रही।

रिकांगपिओ  —  राजकीय उच्च विद्यालय नेसंग द्वारा स्कूल का पांचवां वार्षिक पारितोषिक वितरण समारोह बड़े ही धूमधाम से मनाया गया। स्कूल के वार्षिक पारितोषिक वितरण समारोह के मुख्यातिथि स्थानीय पंचायत उपप्रधान रगुनाथ सिंह थे। कार्यक्रम का शुभारंभ स्कूल की छात्राओं द्वारा वंदे मातर्म गीत से किया गया। जिस के बाद स्कूल के कार्यकारी मुख्य अध्यापक

चंबा  —  कदम संस्था के दो दिवसीय कार्यक्रम के समापन अवसर पर आरोमा होटल चंबा में विभिन्न विषयों पर चर्चा की गई। दो दिवसीय कार्यशाला में 40 प्रतिभागियों ने भाग लिया। कार्यशाला का मकसद लोगों को विभिन्न सरकारी योजनाओं के बारे में जानकारी प्रदान करवाना है। कार्यशाला के दौरान एसईबीपीओ ने मनरेगा व ग्राम सभा

रिकांगपिओ —  जिला मुख्यालय रिकांगपिओ जल्द ही एक अतिरिक्त संपर्क सड़क से जुड़ जाएगा। बुधवार को प्रदेश विधानसभा उपाध्यक्ष जगत सिंह नेगी ने रिकांगपिओ से पवारी तक बनने वाले इस संपर्क सड़क का विधिवत शिलान्यास किया। तीन करोड़ 81 लाख रुपए की लागत से बनने वाले चार किलो मीटर लंबे इस अतिरिक्त संपर्क सड़क के

रामपुर बुशहर —  कड़ाके की सर्दी में खनेवली गांव में पानी के लिए हाहाकार मचा हुआ है। ग्रामीणों का कहना है कि पिछले दो माह से खनेवाली, शलूण, नैरी गांव में पानी की भारी किल्लत चल रही है। जिससे इन तीन गांव में रहने वाले एक हजार से ऊपर की आबादी खासी परेशानी झेल रही

कांग्रेस सरकार अपनी कांति और क्रांति के हिसाब से दो सालों का मूल्यांकन करे, तो मालूम होगा कि कितना समय गुजर गया और कितना अभी बाकी है। मोदी लहरों के देश में, हिमाचल सरकार की उपलब्धियों के सबूत और विपक्ष के भूत मुखातिब हैं। बेशक नीतियों-कार्यक्रमों की मरम्मत हुई, सामाजिक सुरक्षा की सीढि़यां बढ़ीं या

(संजीव कौशल, सोलन) पिछले कुछ समय से हिमाचल की शिक्षा पद्धति एवं शिक्षा की गुणवत्ता पर कई सवाल उठते आए हैं, जिसके बावजूद इसमें कोई सुधार नजर नहीं आ रहा है। इसको लेकर हालात आज भी ज्यों-के-त्यों बरकरार हैं। इस स्थिति में सुधार क्यों नहीं आया, इस पर विमर्श होना बहुत आवश्यक है। पिछले वर्ष