संधोल के लाड़ले को अंतिम विदाई

बैरी में राजकीय सम्मान के साथ शहीद राकेश कुमार की अंत्येष्टि

संधोल –पिथौरागढ़ में एक बस हादसे में शहीद हुए भारतीय रिजर्व बल के जवान राकेश (36) का उनके पैतृक गांव बैरी के त्रिवेणी संगम पर शनिवार को पूरे राजकीय सम्मान के साथ अंतिम संस्कार किया गया।  प्रशासन की ओर से तहसीलदार संधोल जगदीश लाल, एसएचओ धर्मपुर सूरम सिंह, स्थानीय चौकी प्रभारी बलजीत ठाकुर, भाजयुमो के प्रदेश प्रभारी रजत ठाकुर, स्थानीय इकाई के अध्यक्ष सुमन सकलानी, कांग्रेस नेता चंद्रशेखर व भारतीय रिजर्व बल के एक दर्जन जवान पिथौरागढ़ व एक दर्जन जवान कुल्लू (शमसी) से एएसआई नंद लाल की अगवाई में शहीद राकेश कुमार को श्रद्धांजलि देने पहुंचे। शनिवार को हुए इस हादसे के बाद चौथे दिन मंगलवार की सुबह जैसे ही शहीद राकेश कुमार का शव उसके पैतृक घर बैरी पहुंचा तो परिवार के साथ-साथ हजारों लोगों की आंखें नम हो गई। आईटीबीपी के अनुसार बताते चलें कि भारत तिब्बत सीमा पुलिस की सातवीं वाहनी मिर्थि की एक बस (सीएचओ 1 जीए 4218) शनिवार को काठ गोदाम से मिर्थि डीडीहाट जा रही थी। बैडी नाला में थल के बीच में बर्ड बैंड के पास बस सड़क किनारे लगे क्रैश बैरियर को तोड़ते हुए लगभग सौ मीटर नीचे पैदल मार्ग पर गिर गई। दुर्घटना में संधोल (बैरी) के जवान राकेश कुमार की घटनास्थल पर ही मौत हो गई, जबकि दो अन्य जवान गंभीर रूप से घायल हो गए। सुबह नौ बजे इनका अंतिम संस्कार त्रिवेणी संगम पर हुआ, जहां राकेश के दो वर्षीय बेटे देवांश और भाई अमित ने इन्हें मुखाग्नि दी। राकेश कुमार अपने पीछे पत्नी, दो वर्षीय बेटे सहित दो नन्हीं बेटियां छोड़ गए हैं। राकेश कुमार की अंतिम यात्रा में क्षेत्र के हजारों लोगों ने लाड़ले को नम आंखों से अंतिम विदाई दी।

You might also like