आज धोनी के घर हो जाए धूम-धड़ाका

आस्ट्रेलिया के खिलाफ तीसरा वनडे जीत भारतीय टीम की नजर सीरीज में अपराजेय बढ़त बनाने पर

रांची – भारतीय क्रिकेट टीम पिछली करीबी रोमांचक जीत के बाद उत्साहित दिखाई दे रही है और अपने स्टार खिलाड़ी महेंद्र सिंह धोनी के घर रांची में शुक्रवार को तीसरे वनडे में आस्ट्रेलिया के खिलाफ एक और जीत के साथ पांच मैचों की सीरीज में अपराजेय बढ़त बनाने के इरादे से उतरेगी। विराट कोहली की 116 रन की कप्तानी पारी और गेंदबाजों की मदद से भारत ने आस्ट्रेलिया को नागपुर वनडे में मात्र आठ रन के अंतर से हराया था और वह मौजूदा सीरीज़ में अभी 2-0 से आगे चल रही है। मेजबान टीम यदि रांची में भी मैच जीत जाती है तो वह पांच मैचों की सीरीज़ में 3-0 की अपराजेय बढ़त बना लेगी। टीम के पूर्व कप्तान और रांची के घरेलू खिलाड़ी धोनी के लिये भी यह मैच अहम माना जा रहा है जो करियर के अंतिम पड़ाव पर पहुंच चुके हैं और संभवतः अपने आखिरी विश्वकप में खेल रहे हैं। सभी की निगाहें धोनी के निजी प्रदर्शन पर भी लगी होंगी, जो शानदार प्रदर्शन कर इस मैच को यादगार बनाना चाहेंगे। हालांकि पिछले मैच में जिस तरह से टीम को करीबी जीत मिली उसके बाद आस्ट्रेलिया से सतर्कता बरतना काफी जरूरी होगा। आस्ट्रेलिया के लिए यह करो या मरो का मुकाबला है और उसकी कोशिश भी वापसी करने की रहेगी। मेहमान टीम पिछले मैच में भी जीत के काफी करीब पहुंची थी लेकिन भारतीय गेंदबाज़ों ने आखिरी समय में जल्द विकेट निकाल जीत सुनिश्चित की। हालांकि विश्वकप के कुछ महीने दूर रहते भारतीय टीम के इस प्रदर्शन को संतोषजनक नहीं माना जा सकता है। भारतीय टीम के मौजूदा प्रदर्शन से साफ है कि उसका ओपनिंग क्रम एक बार फिर सिरदर्द बन गया है। ओपनर शिखर धवन पिछले काफी समय से खराब फार्म से जूझ रहे हैं, जिससे ओपनिंग क्रम टीम को मैच में अच्छी शुरुआत नहीं दिला पा रहा है। धवन के अलावा रोहित भी निराश कर रहे हैं। पिछले मैच में धवन 21 रन जबकि रोहित शून्य पर आउट हो गए थे, जिससे रन बनाने की जिम्मेदारी एक बार फिर कप्तान विराट पर आ गयी। नागपुर में मैन ऑफ द मैच रहे विराट ने अपनी 116 रन की शतकीय पारी से भारत को जीत दिलाने में अहम भूमिका निभाई, लेकिन यह भी माना कि मुश्किल परिस्थितियों में उन्हें पूरी पारी में बल्लेबाजी करनी पड़ती है जिससे साफ है कि वह भी ओपनिंग क्रम की नाकामी से परेशान हैं। धवन के पिछले रिकार्ड को देखें तो उन्होंने लंबे समय से केवल दो अर्द्धशतक ही बनाए हैं। इंग्लैंड में 30 मई से शुरू होने जा रहे आईसीसी विश्वकप से पहले भारत के लिए विजयी संयोजन तलाशना भी बड़ी चुनौती है। टीम के पास लोकेश राहुल, अंबाती रायुडू, धोनी, ऑलराउंडर रवींद्र जडेजा जैसे अच्छे विकल्प हैं, लेकिन प्रदर्शन में निरंतरता की कमी उसकी बड़ी समस्या है। रायुडू ने आखिरी बार न्यूजीलैंड के खिलाफ अर्द्धशतक बनाया था। यह देखना दिलचस्प रहेगी कि धवन की खराब फार्म के कारण टीम प्रबंधन राहुल को तीसरे नंबर पर मौका देता है या नहीं। पिछले मैच में विजय शंकर बल्ले और गेंद से प्रभावशाली रहे थे। विराट ने पिछले मैच में शंकर की 46 रन की उपयोगी पारी की काफी तारीफ की थी, जबकि उन्होंने 15 रन पर दो विकेट भी हासिल किए और एक बार फिर उनसे इसी तरह के प्रदर्शन की अपेक्षा रहेगी। भारतीय टीम के पास हालांकि अच्छा गेंदबाजी क्रम मौजूद है जिसने मुश्किल स्थितियों में काफी मदद की है। चाइनामैन गेंदबाज़ कुलदीप यादव, मध्यम तेज़ गेंदबाज़ जसप्रीत बुमराह, शंकर, अनुभवी तेज गेंदबाज मोहम्मद शमी, केदार जाधव उसके गेंदबाजी क्रम का अहम हिस्सा हैं। तेज गेंदबाज शमी जहां टीम को ओपनिंग विकेट दिलाने में  उपयोगी रहते हैं, तो बुमराह अपनी डैथ ओवर गेंदबाजी के लिये उपयोगी हैं। आस्ट्रेलिया के पास भी अच्छा बल्लेबाजी और गेंदबाजी क्रम मौजूद है। पिछले मैच में पैट कमिंस 29 रन पर चार विकेट लेकर सबसे सफल रहे थे। हालांकि एडम जांपा, नाथन कूल्टर नाइल, ग्लेन मैक्सवेल, नाथन लियोन अच्छे गेंदबाज हैं, लेकिन पिछले मैच में वे काफी महंगे रहे थे। वहीं बल्लेबाजों में एरोन फिंच, मैक्सवेल, पीटर हैंड्सकोंब और मार्कस स्टोइनिस अच्छे स्कोरर हैं। स्टोइनिस की 52 रन की अर्द्धशतकीय पारी की बदौलत टीम जीत के करीब भी पहुंची थी, लेकिन जीत हाथ नहीं लग सकी। ऐसे में उसे सीरीज बचाने के लिए पूरा जोर लगाना होगा।

घर में माही का आखिरी वनडे!

रांची – भारत और आस्ट्रेलिया के बीच शुक्रवार को पांच मैचों की सीरीज का तीसरा मुकाबला जेएससीए स्टेडियम रांची में खेला जाएगा। महेंद्र सिंह धोनी का संभवतः यह आखिरी वनडे मैच होगा। वैसे में विराट कोहली और पूरी टीम इंडिया माही को उनके घर में सीरीज जीत कर बड़ा तोहफा देना चाहेगी। मौजूदा शृंखला के प्रत्येक मैच में धोनी की काफी हौसलाअफजाई हो रही है, क्योंकि प्रशंसकों को पता है कि उन्हें संभवतः इस मैदान पर धौनी को भारत का प्रतिनिधित्व करते हुए देखने का मौका नहीं मिलेगा।

भारत : विराट कोहली (कप्तान), शिखर धवन, रोहित शर्मा, अंबाती रायुडू, केदार जाधव, विजय शंकर, महेंद्र सिंह धोनी, कुलदीप यादव, जसप्रीत बुमराह, मोहम्मद शमी, रविंद्र जडेजा, युजवेंद्र चहल, भुवनेश्वर कुमार और ऋषभ पंत

आस्ट्रेलिया  : एरोन फिंच (कप्तान), उस्मान ख्वाजा, पीटर हैंड्सकोम्ब, शान मार्श, ग्लेन मैक्सवेल, मार्कस स्टोइनिस, एश्टन टर्नर, झाय रिचर्डसन, एडम जंपा, एंड्रयू टाई, पैट कमिंस, नाथन कोल्टर नाइल, एलेक्स केरी, लियोन और जेसन बेहरेनडोर्फ

You might also like