सुखराम कांग्रेस में लौटे

नई दिल्ली – लोकसभा चुनावों से ठीक पहले पूर्व केंद्रीय संचार मंत्री सुखराम सोमवार को अपने पौत्र आश्रय शर्मा के साथ पुनः कांग्रेस में शामिल हो गये।  श्री सुखराम ने कांग्रेस अध्यक्ष राहुल गांधी से मुलाकात के बाद यहां पार्टी मुख्यालय में श्री आश्रय शर्मा के साथ सदस्यता ग्रहण की। इस  अवसर पर पार्टी मीडिया प्रभारी रणदीप सिंह सुरजेवाला, महासचिव के सी वेणुगोल और पार्टी की हिमाचल प्रदेश की प्रभारी रजनी पाटिल मौजूद थी।    श्री सुखराम ने संवाददाताओं से कहा कि वह मूल रुप से कांग्रेस परिवार से है और यह घर वापसी है। उन्होंने कहा कि उनका किसी से कोई द्वेष नहीं है। वह पूरे समर्पण के साथ पार्टी के लिए काम करेंगे। कांग्रेस में शामिल होने से पहले श्री सुखराम ने श्री गांधी के अलावा पूर्व अध्यक्ष सोनिया गांधी से भी मुलाकात की। सूत्रों के अनुसार श्री आश्रय शर्मा को हिमाचल प्रदेश की मंडी सीट से कांग्रेस का टिकट मिल सकता है।   श्री सुखराम ने कहा, ‘‘ मैं श्री गांधी से दो  माह पहले भी मिला था और उनकी इस बात से प्रभावित हुआ कि हमारे राजनीतिक  नहीं, पारिवारिक रिश्ते हैं। मैं अपने घर आया हूं, पूरा जीवन कांग्रेस में  गुजरा है। अब जिंदगी के इस मोड़ पर किसी से द्वेष नहीं है।’’   श्री सुखराम ने अपने पुत्र अनिल शर्मा के साथ 2017 में हिमाचल प्रदेश में विधानसभा चुनाव से पूर्व कांग्रेस से इस्तीफा दे दिया था। श्री अनिल शर्मा ने भाजपा के टिकट चुनाव लड़ा था और इस समय वह जयराम सरकार में मंत्री हैं।   श्री सुरजेवाला ने कहा कि श्री सुखराम की यह घर वापसी है। वह लंबे तक कांग्रेस में रहे हैं और इस दौरान उन्होंने कई चुनाव जीते हैं। उन्होंने श्री गांधी से मुलाकात के दौरान उन्हें सफलता का आशीर्वाद भी दिया है। भारतीय जनता पार्टी के मौजूदा नेतृत्व पर तंज कसते हुए श्री सुरजेवाला ने कहा कि वे जहां बुजुर्ग नेता लाल कृष्ण आडवाणी को दरकिनार कर रहे हैं, वहीं कांग्रेस नेतृत्व अपने वरिष्ठ नेताओं को सम्मान दे रहा है।

You might also like