छात्रों से रू-ब-रू हुए डीएवी यूनिवर्सिटी के चांसलर

जालंधर। डीएवी यूनिवर्सिटी के चांसलर डा. पूनम सूरी ने छात्रों से जीवन में प्रसन्नता लाने और सकारात्मक मानसिक रूपरेखा रखने के लिए प्रेरित किया। डा. सूरी यूनिवर्सिटी में महात्मा आनंद स्वामी होस्टल, यज्ञशाला का शिलान्यास करने व छात्रों से अपने विचार साझा करने के लिए आए थे। यूनिवर्सिटी में उन्होंने नवनिर्मित ऑडिटोरियम का उद्घाटन भी किया। डा. सूरी ने स्टूडेंट्स एंड फैकल्टी को संबोधित करते हुए कहा कि खुशी जीवन में विकास की कुंजी है। डा. सूरी के साथ डीएवी परिवार की पहली महिला मणि सूरी भी थीं। शिक्षा के क्षेत्र में योगदान के लिए पद्मश्री से सम्मानित डा. सूरी ने कहा कि छात्रों को जीवन में खुशियों का पोषण करना चाहिए। डा. सूरी, जो कि डीएवी कालेज प्रबंध समिति के अध्यक्ष भी हैं, ने कहा कि खुशी मानव की प्राकृतिक अवस्था है। यूनिवर्सिटी कैंपस में हुई डिवेलपमेंट की सराहना करते हुए डा. सूरी ने कहा कि यूनिवर्सिटी की डिवेलपमेंट कमेटी ने कम समय में ऑडिटोरियम बनवाकर एक अच्छा काम किया है। कमेटी में जस्टिस एनके सूद,  राजिंदर नाथ,  अजय सूरी और राजन गुप्ता मेंबर हैं। इस मौके पर डीएवी सीएमसी के वाइस प्रेजिडेंट, न्यायमूर्ति एनके सूद, राजिंदर नाथ और डा. रमेश आर्य, सेक्रेटरी अरविंद घई, निदेशक डीएवी सीएमसी जे काकरिया, एग्जीक्यूटिव डायरेक्टर राजन गुप्ता, रजिस्ट्रार डा. सुषमा आर्य, डा. देश बंधू गुप्ता, डा. जेपी शूर, कालेजों के प्रिंसीपलों सहित विभिन्न गणमान्य व्यक्ति उपस्थित थे। 

 

You might also like