तपस्या में लीन देवता गौहरी के कारकून

कुल्लू। जिला मुख्यालय कुल्लू में चल रहे तीन दिवसीय पीपल जातर मेले के दूसरे दिन सोमवार को भी देवता गौहरी की शोभायात्रा मुख्य आकर्षण का केंद्र रही। बीते रविवार से देवता गौहरी के कारकून ढालपुर स्थित देवता के अस्थायी शिविर में देव तपस्या में लीन हैं। सोमवार को देवता के दर्शन के लिए अस्थायी शिविर में दिनभर श्रद्धालुओं की भीड़ उमड़ी रही। मंगलवार को देवता गौहरी की भव्य शोभायात्रा के साथ तीन दिवसीय पीपल जातर मेले का समापन होगा। देवता के कारदार राजकुमार महंत ने बताया कि कई वर्षों से पीपल जातर मेले का आगाज देवता गौहरी ही करते हैं। कारकून देवता की परंपरा को बखूबी से निभा रहे हैं। उन्होंने बताया ढालपुर में देवखेल के बाद मंगलवार को देवता अपने देवालय की ओर रवाना होंगे।

You might also like