पहेलियां

  1. चलती हूं पर पैर नहीं,

कभी राह नहीं बदलती,

चलती हूं टिक टिक कर,

देख कर करते तुम सारे काम,

तो बताओ मेरा नाम

***

  1. मंदिर मे हूं तो हर कोई शीश झुकाए,

पर रास्ते मे मिलूं तो हर कोई ठोकर मारता जाए

पहेली समझ आई तो कोई मेरा नाम तो बता जाए ।

****

  1. दिन में सोती, रात को रोती,

जितना रोती, उतना खोती।

****

  1. मेरी पीठ पर तुम बैठो,

आसमान की सैर कराऊं

जल्दी से तुमको में मंजिल पर उतारूं

****

  1. गिन नहीं सकता कोई,

हैं हजारों लाखों एक साथ,

दिमाग को ढके रखते,

गर्मी सर्दी बरसात

उत्तरः 1. घड़ी, 2. पत्थर, 3. मोमबत्ती, 4. हवाई जहाज, 5. बाल

You might also like