यूएई ने हिंदू पिता-मुस्लिम मां की बेटी को दिया जन्म प्रमाणपत्र

दुबई -संयुक्त अरब अमीरात सरकार ने प्रवासियों के लिए शादी के नियमों से इतर भारत के एक हिंदू व्यक्ति और मुस्लिम महिला की बेटी को जन्म प्रमाण पत्र दे दिया है। मीडिया में आई खबरों के मुताबिक संयुक्त अरब अमीरात में प्रवासियों के लिए शादी के नियम के अनुसार, मुस्लिम पुरुष तो किसी गैर मुस्लिम महिला से शादी कर सकता है, लेकिन मुसलमान महिला किसी गैर मुस्लिम व्यक्ति से विवाह नहीं कर सकती। खबर के अनुसार, शारजाह में रहने वाले किरण बाबू और सनम साबू सिद्दीकी ने 2016 में केरल में शादी की थी। जब जुलाई, 2018 में उनके यहां बेटी का जन्म हुआ। तब उन्हें कई तरह की परेशानियों का सामना करना पड़ा। बाबू ने कहा कि उनकी बेटी के पास कोई कानूनी दस्तावेज नहीं था तो उनकी सारी उम्मीदें माफी मिलने पर टिक गईं। बाबू ने कहा कि मेरे पास आबुधाबी का वीजा है। वहां पर मेरा बीमा भी हो रखा है। मैंने अपनी पत्नी को अमीरात के मेदीवर अस्पताल में भर्ती कराया। बेटी के जन्म के बाद, मेरे हिंदू होने की वजह से जन्म प्रमाणपत्र देने से इनकार कर दिया गया। इसके बाद मैंने अदालत के जरिए अनापत्ति प्रमाण पत्र के लिए आवेदन किया। इसके लिए चार महीने तक सुनवाई चली, मगर मेरे मामले को खारिज कर दिया गया। यूएई ने 2019 को सहिष्णुता वर्ष के तौर पर घोषित किया है।

 

You might also like