राजस्थान रॉयल्स की उम्मीदें बरकरार

जयपुर -राजस्थान रॉयल्स ने सनराइजर्स हैदराबाद को सात विकेट से हराकर अपने घरेलू अभियान का अंत जीत के साथ किया और आईपीएल प्लेऑफ में जगह बनाने की उम्मीदें भी कायम रखी। करो या मरो के इस मैच में जीत के लिए 161 रन का लक्ष्य रॉयल्स ने 19.1 ओवर में हासिल कर लिया। इस जीत के बाद राजस्थान अब 12 मैचों में 10 अंक लेकर छठे स्थान पर है। प्लेऑफ की दौड़ में बने रहने के लिए उसे 30 अप्रैल को रॉयल चैलेंजर्स बंगलूर और चार मई को दिल्ली कैपिटल्स को हराना होगा। दूसरी ओर हार के बावजूद सनराइजर्स 11 मैचों में 10 अंक लेकर पांचवें स्थान पर बनी हुई है। रॉयल्स के लिए लियाम लिविंगस्टोन ने 26 गेंद में 44 और अजिंक्या रहाणे ने 34 गेंद में 39 रन बनाए। दोनों ने पहले विकेट के लिए 55 गेंद में 78 रन की साझेदारी की। संजू सैमसन ने 32 गेंद में नाबाद 48 रन बनाये जबकि कप्तान स्टीव स्मिथ ने 22 रन जोड़े। इससे पहले मनीष पांडे के आक्रामक अर्द्धशतक के बावजूद मध्यक्त्रम के बिखरने की वजह से सनराइजर्स हैदराबाद आठ विकेट पर 160 रन ही बना सके। पांडे ने 36 गेंद में नौ चौकों की मदद से 61 रन बनाए।

बीच के ओवरों में ढीली गेंदबाजी से हारे

जयपुर। सनराइजर्स हैदराबाद के कप्तान केन विलियमसन ने शनिवार को इंडियन प्रीमियर लीग (आईपीएल) मुकाबले में राजस्थान रॉयल्स से सात विकेट से मिली शिकस्त के बाद कहा कि उनकी टीम बीच के ओवरों में पर्याप्त विकेट नहीं ले पाई, जिससे उन्हें हार का सामना करना पड़ा। राजस्थान रॉयल्स की टीम सनराइजर्स को हराकर प्लेऑफ की दौड़ में बनी हुई है। विलियम्सन ने मैच के बाद कहा कि मुझे लगता है कि हम बीच के ओवरों में विकेट नहीं निकाल पाए, जैसा उन्होंने हमारी बल्लेबाजी के समय किया था।

You might also like