हमें भी मिले वोट डालने का मौका

चुनाव आयोग के द्वार पहुंचेंगे एचआरटीसी के ड्राइवर-कंडक्टर

शिमला  —हिमाचल पथ परिवहन निगम के कर्मचारी लोकसभा चुनाव में मताधिकार की मांग को लेकर चुनाव आयोग के द्वार पहुचेंगे। लोकसभा चुनाव में निगम कर्मचारी मताधिकार से वंचित न रह जाएं, इसलिए हिमाचल परिवहन मजदूर संघ ने उक्त मांग को चुनाव आयोग के समक्ष उठाने का फैसला लिया है। उल्लेखनीय है कि इस बार  चुनाव आयोग द्वारा एचआरटीसी के कर्मचारियों के मतदान के लिए अभी तक कोई निर्णय भी नहीं लिया गया है। हिमाचल पथ परिवहन निगम में साढ़े सात हजार चालक व परिचालक हैं, जो कि मतदान के दिन भी लोगों को सुविधा देने में लगे रहते हैं। ये कर्मचारी चुनाव वाले दिन भी डयूटी पर रहते हैं और एक जगह से दूसरे स्थान पर लोगों को पहुंचाते हैं। ऐसे में जब ये लोग दूसरे मतदाताओं को उनके घर या मतदान केंद्र तक पहुंचा रहे होंगे, तो वे खुद अपना मतदान कैसे करेंगे। चुनाव आयोग द्वारा निगम कर्मचारियों के लिए अभी तक कोई निर्णय न लेने पर परिवहन मजदूर संघ ने मताधिकार की मांग चुनाव आयोग के समक्ष उठाने को निर्णय लिया है। हिमाचल परिवहन मजदूर संघ के अध्यक्ष शंकर सिंह ठाकुर ने बताया कि संघ के पदाधिकारी चार मई को चुनाव आयोग से मिलेंगे और निगम कर्मचारियों को गत साल की तरह पोस्टल बैलेट द्वारा मतदान करने की व्यवस्था उपलब्ध करवाने की मांग उठाएंगे। उन्होंने कहा कि परिवहन निगम के जो कर्मचारी चुनाव ड्यूटी पर होंगे, उन्हें आयोग मत डालने के लिए पोस्टल बैलेट की सुविधा प्रदान करे। अभी तक चुनाव आयोग द्वारा निगम के कर्मियों के मतदान करने की व्यवस्था पर कोई फैसला नहीं लिया गया है। ऐसे में यह बड़ा सवाल खड़ा हो गया है कि निगम के कर्मचारी अपने मत का प्रयोग कर पाएंगे या नहीं। पिछली दफा निगम के कर्मचारियों को पोस्टल बैलेट दिए गए थे और कर्मचारी इस दफा भी पोस्टल बैलेट ही चाहते हैं।

 

 

 

You might also like