139 लोगों ने पैदल लांघा रोहतांग

टनल से आवाजाही थमने के बाद बर्फ का पहाड़ चढ़ लाहुल पहुंच रहे लोग

 केलांग —रोहतांग टनल से लोगों की आवाजाही पर लगी ब्रेक के बाद लोग बर्फ से लदे रोहतांग दर्रे को पैदल लांघ रहे हैं। पांच माह बाद घर लौटने व लाहुल में खेती के कार्य को अंजाम देने के लिए इन दिनों रोजाना 100 से अधिक लोग रोहतांग दर्रे को पैदल लांघ रहे हैं। इस फेहरिस्त में रविवार को 139 लोगों ने रोहतांग दर्रे को पैदल पार कर लाहुल में प्रवेश किया है। मढ़ी व कोकसर में तैनात रेस्क्यू चैक पोस्ट के जवान जहां रोहतांग को पैदल लांघने वाले लोगों को सुरक्षित दर्रा पार करवा रहे हैं, वहीं लोगों को एक उम्मीद बंधी थी कि रोहतांग टनल से लोगों की आवाजाही बीआरओ जारी रखेगा, लेकिन ऐसा हो नहीं पाया। रोहतांग टनल प्ररियोजना प्रबंधन ने पहले ही लाहुल-स्पीति प्रशासन के सामने अपनी स्थिति को स्पष्ट करते हुए कहा कि लोगों की टनल से आवाजाही लगातार जारी नहीं रखी जाएगी, क्योंकि टनल के भीतर निमार्ण कार्य चल रहा है। लिहाजा विशेष परिस्थितियों में ही टनल के द्वार लोगों के लिए खोले जाएंगे। ऐसे में अब लोगों ने रोहतांग दर्रे को पैदल लांघना शुरू कर दिया है। बता दें कि लाहुल-स्पीति के लिए जीएडी ने सेना के हेलिकाप्टर की उड़ान करवाने की योजना बनाई थी, लेकिन अभी तक सेना का हेलिकाप्टर लाहुल के लिए उड़ान नहीं भर पाया है। ऐसे में लोग अब रोहतांग  दर्रे को पैदल ही लांघ रहे हैं। रविवार को भी 139 लोगों ने रोहतांग दर्रे को पैदल लांघा है। एसपी लाहुल-स्पीति राजेश धर्माणी का कहना है कि रविवार को 139 लोगों ने दर्रे को पैदल पार किया है।

हटेंगी चैक पोस्ट्स

एसपी लाहुल-स्पीति राजेश धर्माणी का कहना है कि सब कुछ ठीक रहा तो प्रशासन पहली मई को कोकसर व मढ़ी से रेस्क्यू चैक पोस्ट्स को हटा देगा। इस पर अभी अंतिम निर्णय प्रशासन व बीआरओ के साथ बैठक के बाद लिया जाना है। कोकसर में पुलिस जवानों की संख्या में मई माह में बढ़ा दी जाएगी।

बहाल होगा रोहतांग

रोहतांग दर्रे की बहाली को लेकर दिन-रात एक कर रहा बीआरओ मई माह के दूसरे सप्ताह के लक्ष्य को लेकर काम कर रहा है। उधर, इस संबंध में  बीआरओ के अधिकारियों का कहना है कि यदि मौसम ने साथ दिया तो मई माह के दूसरे सप्ताह में रोहतांग दर्रे को बहाल कर दिया जाएगा।

You might also like