अंतिम चरण के चुनाव से पहले गरमाया बंगाल, केंद्र-राज्य के बीच बढ़ी तल्खियां

 

अंतिम चरण के चुनाव से पहले गरमाया बंगाल, केंद्र-राज्य के बीच बढ़ी तल्खियां

 पश्चिम बंगाल में सातवें और अंतिम चरण में 19 मई को होने जा रहे नौ लोकसभा सीटों के लिए चुनाव प्रचार एक दिन पहले गुरुवार को ही समाप्त किए जाने की घोषणा तथा इससे पहले प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी की आयोजित होने वाली दो रैलियाें को लेकर केंद्र और राज्य के बीच तल्खियां और बढ़ गयी हैं। तृणमूल कांग्रेस प्रमुख एवं पश्चिम बंगाल की मुख्यमंत्री ममता बनर्जी और भारतीय जनता पार्टी (भाजपा) केंद्रीय नेतृत्व के बीच वाकयुद्ध , भाजपा अध्यक्ष अमित शाह के रोडशो के दौरान भड़की हिंसा के दौरान प्रसिद्ध समाज सुधारक ईश्वरचंद्र विद्यासागर की प्रतिमा खंडित किए जाने की घटना के बाद चुनाव आयोग के निर्णय से यहां के राजनीतिक माहौल में जबरदस्त उबाल आ गया है। चुनाव आयोग ने संविधान के अनुच्छेद 324 के तहत प्रदत्त अधिकारों का उपयोग करते हुए देश की भावना को तरजीह दिए बिना ही रविवार को नौ सीटों के लिए होने जा रहे मतदान के लिए 19 घंटे पहले ही चुनाव प्रचार समाप्ति की मियाद तय कर दी।

 

You might also like