अढ़ाई बजे चले अर्की-भूमति, जघून-चोरटू बस

सोलन—लंबे समय से चली आ रही जनता की मांग पर प्रदेश के परिवहन मंत्री गोविंद सिंह ठाकुर ने अर्की-भूमति, जघून-चोरटू बस सेवा अर्की से अढ़ाई बजे दिन में चलाने के आदेश दिए थे, जिसके अनुसार यह बस चलनी शुरू हो गई थी तथा भूमति से साढ़े तीन  बजे चलती थी। इसके चलने से जनता के साथ-साथ स्कूली बच्चों को भी इसका लाभ मिल रहा था और इससे सरकार को भी खासी आमदनी हो रही थी। प्रेस में जारी किए ज्ञापन द्वारा  समाजसेवी मस्तराम शर्मा  का कहना है कि लोकसभा चुनाव के समय इसका समय बदल दिया गया और अब यहां भूमति से 4ः20 पर चलती है। वहीं, दूसरी निजी बस 4:40 पर चलती है। इस समय परिवर्तन से जनता के साथ-साथ स्कूली बच्चों को भी परेशानी हो रही है। दोनों बसें साथ चलने से सरकारी बस में सवारियों की संख्या भी घट गई है। स्कूली बच्चों को 3ः00 बजे छुट्टी हो जाती है तथा उन्हें डेढ़ घंटे तक बस के इंतजार में कड़कती धूप में सड़क पर खड़े रहना पड़ता है। उन्होंने मांग की है कि इसका समय बच्चों के हित में अर्की से 3:30 बजे कर देना चाहिए ताकि भूमति से आगे जाने वाली सवारी में तथा बच्चों को समय पर बस सुविधा मिल सके और क्षेत्र की आम जनता भी मांग करती है कि अर्की से इस बस का समय 2ः30 बजे तथा भूमति से 3ः30 बजे का किए जाने तथा सुबह भी इसका भूमति पहुंचने का समय पौने नौ बजे किए जाए । लोगों ने कहा कि पहले का समय जनता की मांग पर तथा बच्चों की सुविधा को देखते हुए ठीक था। इसको बदलने की कोई आवश्यकता नहीं थी। इस बारे में जब अर्की बस अड्डा कार्यालय में बात की गई तो वहां मौजूद निरीक्षक मेहर सिंह का कहना था कि अड्डा प्रभारी के अवकाश पर जाने के कारण उन्हें केवल दो दिन के लिए यहां भेजा गया है। अतः उन्हें इस बारे में अधिक जानकारी नहीं है।

You might also like