अनसेफ बिल्डिंग में मतदान

परवाणू—राजकीय वरिष्ठ माध्यमिक विद्यालय जाबली के भवन को जिला प्रशासन द्वारा असुरक्षित घोषित करने के बावजूद चुनाव आयोग द्वारा उक्त भवन में लोगों की सुरक्षा को ताक पर रखकर 19 मई को पोलिंग करवाई जाएगी। उक्त भवन के साथ 22 अप्रैल को एनएचआई के सड़क निर्माण के साथ खुदाई की जद में आने से साथ लगते स्कूल के स्टेज, खेल के मैदान में दरार आने से पूर्णतया नष्ट हो चुका है और स्कूल कार्यालय के उक्त भवन पर लगातार खतरा मंडरा रहा है। गौरतलब हो कि जिला प्रशासन द्वारा उक्त भवन पर ग्रामीण राजस्व अधिकारी ने 23 अप्रैल को नोटिस भी चस्पां किया गया है। उक्त स्कूल के भवन को असुरक्षित घोषित करने के बाद भी प्रशासन ने अपने नोटिस को भी नजरअंदाज कर उक्त भवन को लोगों के लिए पोलिंग बूथ बना लोगों के जीवन को भी खतरे में डाल दिया है। उक्त भवन में जब लोग वोट डालने जाएंगे तो भीड़ बढ़ने से भवन के धसने का खतरा लगातार बना हुआ है। प्रशासन को जब जानकारी थी तो उसे चुनाव आयोग को किसी दूसरी जगह उक्त पोलिंग बूथ में बदलने के लिए आग्रह करना था, लेकिन जिला प्रशासन द्वारा अपने भवन को असुरक्षित घोषित करने के निर्णय पर भी अब लोगों ने अंगुलिया उठाना शुरू कर दिया है। फिलहाल लोगों की सुरक्षा खतरे में पड़ी हुई है क्योंकि उक्त भवन की एक माह से ज्यादा होने पर भी लोक निर्माण विभाग द्वारा स्टेबिलिटी रिपोर्ट न दिए जाने के बावजूद प्रशासन ने बिना लोक निर्माण विभाग की रिपोर्ट के उक्त स्थान पर पोलिंग बूथ स्थापित करने के निर्णय पर भी लोग आपत्तियां व्यक्त कर रहे हंै। लोगों ने चुनाव आयोग से उक्त पोलिंग बूथ को किसी अन्य भवन में शिफ्ट करने का आग्रह किया है, ताकि लोगों के जीवन को सुरक्षा प्रदान की जा सके।

You might also like