अनुभव-आस्था-सुखदेव मैराथन में अव्वल

शिमला—एसजेवीएन ने रविवार को अपना 32वां स्थापना दिवस मनाया। 32वें वर्ष के अवसर पर आयोजित विभिन्न कार्यक्रमों की शुरूआत में शिमला में ऊर्जा बचाओ पर्यावरण बचाओ का संदेश  सर्वसाधारण तक पहुंचाने के लिए एक मिनी मैराथन का आयोजन किया गया। इसमें एसजेवीएन के कर्मचारियों और उनके परिजनों ने बढ़-चढ़कर हिस्सा लिया। यह मिनी मैराथन प्रदेश सचिवालय भवन छोटा शिमला से होटल पीटरहाफ तक माल रोड से होते हुए गुजरी। गन्तव्य स्थल पर अन्य सांस्कृतिक प्रतियोगिताएं तथा रस्सा कशी एवं म्यूजिकल चेयर प्रतियोगिता भी आयोजित की गई। इस अवसर पर निगम के अध्यक्ष  एवं प्रबंध निदेशक नंद लाल शर्मा, निदेशक वित्त अमरजीत सिंह बिंद्रा, निदेशक विद्युत राकेश कुमार बंसल, निदेशक कार्मिक गीता कपूर तथा मुख्य सतर्कता अधिकारी श्याम सिंह नेगी ने अन्य वरिष्ठ अधिकारियों एवं कर्मचारियों सहित भाग लिया। एसजेवीएन की स्थापना 1988 में हुई थी। 15 वर्ष तक के लड़कों की मैराथन में अनुभव शर्मा ने प्रथम, भानू ने द्वितीय तथा अभिमन्यु नेगी ने तृतीय स्थान प्राप्त किया।  15 वर्ष तक की ही आयु वर्ग की लड़कियों में इशिता नेगी ने प्रथम, गरिमा गुप्ता ने द्वितीय तथा अनाहिता कपूर ने तृतीय पुरस्कार हासिल किया। 15 से 55 वर्ष महिला वर्ग में आस्था शर्मा को प्रथम, परिधी गुप्ता को द्वितीय तथा श्रुति मारवाह को तृतीय पुरस्कार से नवाजा गया।  इस आयु वर्ग के पुरूषों में वेद प्रकाश शर्मा ने प्रथम, पुष्कर शर्मा ने द्वितीय तथा मनीष चौहान ने तृतीय स्थान प्राप्त किया। 55 वर्ष से ऊपर आयु वर्ग में सुखदेव शर्मा ने प्रथम, जोगेंदर शर्मा ने द्वितीय तथा आरपी गुलेरिया ने तृतीय पुरस्कार प्राप्त किया। हिमपेस्को कर्मचारियों के पुरूष वर्ग में आशीष ने प्रथम, जगत राम ने द्वितीय तथा अमर चंद ने तृतीय पुरस्कार हासिल किया। इन्हीं कर्मचारियों के महिला वर्ग में मीनाक्षी गोस्वामी ने प्रथम, श्रुति शांडिल ने द्वितीय तथा उषा देवी ने तृतीय स्थान प्राप्त किया। इन सभी वर्गों में प्रथम पुरस्कार रुपए 5000, द्वितीय पुरस्कार रुपए 4000 तथा तृतीय पुरस्कार रुपए 3000 था।  इसके अतिरिक्त सभी वर्गों में एक एक हजार के छह सांत्वना पुरस्कार भी दिए गए।  ऊर्जा बचाओ पर्यावरण बचाओ की विषय वस्तु पर विभिन्न विभागों की टीमों द्वारा शानदार प्रस्तुतियां भी दी गईं। इस प्रतियोगिता में वित्त विभाग की टीम ने रुपए 25000 का प्रथम पुरस्कार प्राप्त किया जबकि रुपए 20000 का द्वितीय पुरस्कार मानव संसाधन की टीम ने जीता और रुपए 15000 का तीसरा पुरस्कार सिविल डिजाइन की टीम द्वारा हासिल किया गया। पुरस्कार वितरण निगम के अध्यक्ष एवं प्रबंध निदेशक नंद लाल शर्मा अन्य निदेशकगण  तथा मुख्य सतर्कता अधिकारी द्वारा किया गया।

You might also like