अपनी प्रतिभा के दम पर चुनाव जीतते हैं अनुराग

हमीरपुर—भाजपा चुनाव प्रभारी प्रवीण शर्मा ने रविवार को हमीरपुर से जारी प्रेस विज्ञप्ति में कांग्रेस प्रत्याशी रामलाल ठाकुर पर आरोप लगाते हुए कहा कि कई बार एवं कई वर्षों तक विभिन्न विभागों के मंत्री रहने के बावजूद उपलब्धि के नाम पर रामलाल ठाकुर का रिपोर्ट कार्ड बिल्कुल खाली है। उन्होंने कहा कि कांग्रेस प्रत्याशी जिस तरह चुनावों में अनुराग ठाकुर एवं पूर्व मुख्यमंत्री प्रोफेसर प्रेम कुमार कुमार की उपलब्धियों पर सवाल उठा रहे हैं तो ऐसा लगता है जैसे उन्होंने शर्म बेच खाई हो। जिस व्यक्ति ने अपने जीवन में सत्ता के बड़े-बड़े पदों पर रहने के बावजूद कोई बड़ा काम जनहित में नहीं किया हो, उसे पूर्व मु यमंत्री एवं प्रदेश में भाजपा के कद्दावर नेता प्रोफेसर प्रेम कुमार कुमार धूमल तथा तीन बार के सांसद अनुराग ठाकुर के ऊपर उपलब्धि के नाम पर अंगुली उठाना बिल्कुल भी शोभा नहीं देता है। उन्होंने कहा कि कांग्रेस प्रत्याशी अपनी ही पार्टी में अलग-थलग पड़े हैं और उनको चुनावों में भी किसी अन्य नेता का संगठन का ज्यादा सहयोग नहीं मिल रहा है। उन्होंने चुटकी लेते हुए कहा कि चुनावों में दिख रही हार से बौखलाहट में राम लाल लाल लाल ठाकुर अभी तो सिर्फ पोस्टर फाड़ने का प्रोपोगेंडा छोड़ रहे हैं, जल्दी ही वह ईवीएम हैक होने का रोना रोएंगे। प्रवीण शर्मा ने कहा कि हमीरपुर लोकसभा क्षेत्र में सांसद अनुराग ठाकुर ने मोदी सरकार के कार्यकाल में 6000 करोड़ से भी अधिक राशि के विकास प्रोजेक्ट लाए हैं और धरातल पर उतारे हैं। रामलाल ठाकुर के पास चुनावों में जनता के पास बताने को ना तो कोई उपलब्धि है ना ही सांसद अनुराग ठाकुर के खिलाफ कोई मुद्दा है। उन्होंने कहा कि जिस तरह कांग्रेस प्रत्याशी भाजपा द्वारा उठाए गए सवालों का कोई भी जवाब नहीं दे पा रहे हैं उसे लगता है कि वह भाजपा के आरोपों को मौन स्वीकृति दे रहे हैं और उनको प्रमाणित कर रहे हैं। प्रवीन शर्मा ने कहा कि आए दिन रामलाल ठाकुर आरोप लगाते हैं की अनुराग ठाकुर अपने पिता प्रोफेसर प्रेम कुमार धूमल के मु यमंत्री रहते हुए चुनाव जीते हैं अनुराग ठाकुर ने अपने पिता के मु यमंत्री के पद का लाभ उठाया है, तो मैं उनसे पूछना चाहते हूं कि वह भी तो 2004 में मंत्री थे तो क्या रामलाल ठाकुर तब अपने मंत्री पद का लाभ उठाने के बावजूद भी चुनाव नहीं जीत सके थे। उन्होंने रामलाल ठाकुर को याद दिलाते हुए कहा कि 2014 में भी अनुराग ठाकुर भारी मतों से चुनाव जीते हैं किंतु तब प्रोफेसर प्रेम कुमार धूमल इस प्रदेश के मु यमंत्री नहीं थे और अनुराग ठाकुर ने अपनी प्रतिभा के दम पर वह चुनाव जीता था।

You might also like