अब एससीओ को ज्यादा तवज्जे

बिश्केक – रूस ने कहा है कि भारत और पाकिस्तान के शामिल हो जाने से  शंघाई सहयोग संगठन (एससीओ) की राजनीतिक और आर्थिक स्थिति में उल्लेखनीय बढ़ोतरी हुई है। रूस के संघीय सुरक्षा सेवा के निदेशक रहे एवं रूस की सुरक्षा मामलों की समिति के सचिव श्री निकोली पात्रिशेव किरगिज की राजधानी में आयोजित एससीओ की सुरक्षा समिति के सचिवों के 14 वें वार्षिक सम्मेलन को संबोधित करते हुए बुधवार को यह बात कही। श्री पात्रिशेव ने कहा कि एससीओ आज वास्तविक में अंतरराष्ट्रीय राजनीति का महत्त्वपूर्ण हिस्सा बन गया है। यह संगठन वैश्विक और क्षेत्रीय मामलों में महत्वपूर्ण भूमिका निभा रहा है और वर्ष 2017 में भारत और पाकिस्तान के इसमें शामिल हो जाने से इसका महत्व प्रभावपूर्ण ढंग से बढ़ा है। उन्होंने कहा कि अब यह संगठन राजनीति, सुरक्षा, आर्थिक और मानवाधिकार समेत सभी मसलों पर चर्चा के लिए नई संभावनाएं और अवसर मुहैया करा रहा है। मध्य एशिया में सुरक्षा चिंताओं को कम करने और पारस्परिक सहयोग बढ़ाने के उद्देश्य से वर्ष 2001 में एससीओ की स्थापनी की गई थी। संगठन में कुल आठ सदस्य देश हैं, जिनमें रूस, चीन, किर्गिस्तान, कजा़िखस्तान, उजबेकिस्तान, भारत, पाकिस्तान सम्मिलित हैं। भारत और पाकिस्तान को नौ जून, 2017 को इस संगठन में शामिल किया गया था।

You might also like