अब कोठी में भी दिखाने होंगे गाड़ी के कागज

मनाली—रोहतांग दर्रे की तरफ जाने वाले सैलानियों के वाहनों की बुधवार से कोठी में भी दस्तावेज जांचे जाएंगे। प्रशासन ने रोहतांग दर्रे के समीप गुलाबा के बाद अब कोठी में भी बैरियर स्थापित कर दिया है। लिहाजा रोहतांग परमिट को लेकर मचे हंगामे के बाद प्रशासन ने जहां बैरियर पर सख्ती बढ़ा डाली है, वहीं दर्रे की तरफ जाने वाले वाहनों के दो बार दस्तावेज जांचे जाएंगे। बुधवार से कोठी बैरियर पर भी गाडि़यों को रोका जाएगा और यहां पर रोहतांग परमिट, गाड़ी की आरसी व अन्य दस्तावेज वाहन चालक को दिखाने हांेगे। इस बैरियर पर वाहनों का पंजीकरण भी किया जाएगा। मंगलवार को एसडीएम मनाली ने भी गुलाबा व कोठी बैरियर का जायजा लिया है। हालांकि मंगलवार को रोहतांग दर्रे पर वाहनों की आवाजाही नहीं की जाती है। मंगलवार को बीआरओ दर्रे की सड़क की हालत को सुधारता है। ऐसे में प्रशासन की टीम ने मंगलवार को दोनों बैरियर पर जहां व्यवस्था को जांचा है, वहीं यहां तैनात कर्मियों को दो टूक शब्दों में कहा है कि किसी भी सूरत में बीना परमिट के किसी भी वाहन को रोहतांग की तरफ न भेजा जाए। उल्लेखनीय है कि इस बार रोहतांग दर्रे के बहाल होने के बाद गुलाबा बैरियर को लेकर जो खलासे हुए हैं वह सभी को चौंकाने वाले हैं। बैरियर पर जहां बिना परमिट के बाहनों को छोड़ने व कुछ लोगों द्वारा प्रशासन की आंखों में धूल झोंक सैलानियों को मढ़ी की सैर करवाने का खुलासा किया गया है, वहीं बाहरी राज्यों से आ रही टैक्सियां भी किसी तरह दलालों की मदद से मढ़ी पहुंच रही है इसे लेकर भी बवाल मचा हुआ है। ऐसे में सोशल मीडिया में भी जहां आए दिन रोहतांग परमिट को लेकर नए-नए वीडियो वायरल हो रहे हैं, वहीं प्रशासन ने मामले की गंभीरता को ध्यान में रख अब कोठी में बैरियर खोल दिया हैअधिकारियों का कहना है कि एनजीटी के आदेशों को पालन किया जा रहा है और किसी को भी इसका उल्लंघन करने नहीं दिया जाएगा।सैलानी रोहतांग दर्रे के दीदार के लिए जहां हर कीमत चुकाने के लिए तैयार हैं, वहीं प्रशासन भी अब दलालों का खेल खत्म करने की फिराक में है। उपायुक्त कुल्लू यूनुस का कहना है कि रोहतांग दर्रे पर बिना परमिट के किसी भी वाहन को जाने की अनुमति नहीं है।

कुछ ऐसी होगी नई व्यवस्था

गुलाबा व कोठी बैरियर पर जहां सीसीटीवी कैमरों के माध्यम से वाहनांे पर ध्यान रखा जाएगा, वहीं एक भी सीसीटीवी कैमरा खराब होने के सूरत में उसे तुरंत बदल दिया जाएगा। इसके अलावा दर्रे पर प्रशासन की टीम कभी भी अपनी दबिश दे डालेगी। ऐसे में किसी भी वाहन को अगर बिना परमिट के दर्रे पर पाया गया, तो वाहन चालक को तो जुर्माना होगा ही साथ ही वाहन को भी ब्लैक लिस्ट किया जाएगा। इसके अलावा बैरियर पर धांधली पाए जाने पर यहां तैनात कर्मियों पर भी कार्रवाई की जाएगी।

जून में सैलानी कर सकेंगे रोहतांग की सैर

समर सीजन में मनाली घूमने पहुंचने वाले सैलानी जून माह में रोहतांग दर्रे की सैर कर सकेंगे। प्रशासन ने दर्रे पर जहां वाहनों की पार्किंग का काम लगभग पूरा कर लिया गया है, वहीं दर्रे पर टायलट्स की भी व्यवस्था सैलानियों के लिए की गई है। इसके अलावा रोहतांग दर्रे पर साफ-सफाई का विशेष ध्यान रखने के लिए प्रशासन ने विशेष कदम भी उठाए हैं। बताया जा रहा है कि पहली जून से रोहतांग दर्रा सैलानियों के लिए प्रशासन बहाल करने जा रहा है। 

You might also like