अब फेल छात्रों का साल नहीं होगा बर्बाद

पहली बार वार्षिक परीक्षाओं की तर्ज पर जून में पेपर दे पाएंगे अनुत्तीर्ण रहे छात्र

 धर्मशाला -हिमाचल प्रदेश स्कूल शिक्षा बोर्ड ने बड़ा एवं ऐतिहासिक निर्णय लिया है। कंपार्टमेंट वाले छात्रों की तर्ज पर वार्षिक परीक्षाओं में फेल छात्र भी अब जून में सभी पेपर देकर पास हो सकते हैं। ऐसे में न तो छात्रों को गोल्डन चांस मांगने की आवश्यकता पड़ेगी और न ही किसी तरह से साल बर्बाद होने के डर से जान गंवाने जैसे खतरनाक निर्णय लेने की जरूरत रहेगी। किसी कारण से अप्रैल की वार्षिक परीक्षाओें में छात्र फेल भी हो गए हों तो उन्हें पूरे पेपर जून में देकर जून अंत तक परीक्षा परिणाम भी मिल जाएगा। ऐसे विद्यार्थी जुलाई माह में कालेजों एवं विवि की ओर से चलाए जाने वाले विभिन्न कोर्सों में दाखिले ले सकते हैं। दसवीं व जमा दो के परीक्षा परिणामों के बाद साल गंवाने से परेशान कई छात्रों के जान देने जैसे गंभीर मामले सामने आते थे, लेकिन शिक्षा बोर्ड ने नया एवं ऐतिहासिक निर्णय लेकर ऐसे सभी छात्रों की परेशानी ही हल कर दी है। इससे पहली बार हिमाचल के 57 हजार से अधिक विद्यार्थी व उनके अभिभावक लाभांवित होंगे। अब तक जून में सिर्फ कंपार्टमेंट वाले छात्र ही पेपर देकर पास होने पर अगली कक्षा में दाखिला ले पाते थे। शिक्षा बोर्ड धर्मशाला ने दसवीं व जमा दो की परीक्षाओं में फेल होने वाले 57 हज़ार के करीब छात्रों को बड़ी राहत प्रदान की है। इसके तहत अब छात्रों का एक साल बचाने के लिए जून में विशेष परीक्षाओं का आयोजन किया जाएगा, जिसमें बच्चे परीक्षा में भाग लेकर अगली कक्षाओं में प्रवेश का मौका प्राप्त कर सकते हैं। इतना ही नहीं इस परीक्षा में राज्य मुक्त विद्यालय एसओएस के तहत परीक्षा से फेल या कंपार्टमेंट छात्र भी अपीयर हो पाएंगे। ऐसे में पहाड़ी राज्यों के छात्रों को अब फेल होने पर दोबारा अपने आप को सिद्ध करने का मौका मिलेगा। इसके तहत स्कूल शिक्षा बोर्ड के नियमित, एसओएस के फेल व कंपार्टमेंट घोषित किए गए छात्रों को भी मौका मिल जाएगा। शिक्षा बोर्ड के इस ऐतिहासिक निर्णय  से छात्र-अभिभावक व शिक्षक सभी वर्ग खुश हैं।

छात्रों का एक साल बचाना उद्देश्य

स्कूल शिक्षा बोर्ड के अध्यक्ष डा. सुरेश कुमार सोनी ने बताया कि छात्रों का एक साल बचाने के उद्देश्य के चलते अब जून में विशेष परीक्षाएं आयोजित की जाएंगी। इनमें फेल होने वाले छात्र भी परीक्षा देकर आगामी कक्षा में प्रवेश प्राप्त कर सकते हैं। अब तक यह सुविधा कंपार्टमेंट के छात्रों को ही थी, लेकिन इससे पिछली परीक्षा में कंपार्टमेंट या फेल हर छात्र लाभान्वित होगा। शिक्षा बोर्ड के इस फैसले का अभिभावकों  ने स्वागत किया है।

20 मई तक आवेदन कर सकते हैं छात्र

जून में आयोजित होने वाली परीक्षाओं के लिए उम्मीदवार सात मई से लेकर 20 मई तक निर्धारित आवेदन प्रपत्र व शुल्क के साथ एसओएस के अध्ययन केंद्र के माध्यम से आवेदन कर सकते हैं। आवेदन मात्र अध्ययन केंद्र के माध्यम से ही ऑनलाइन स्वीकार किया जाएगा। निर्धारित तिथि के बाद कोई भी आवेदन प्रपत्र स्वीकार नहीं किया जाएगा।

You might also like