अमेठी में कांग्रेस की तीसरी हार

इतिहास गवाह, हर 21 साल बाद पार्टी को मिली है मात

अमेठी –यूपी में कांग्रेस का भले ही कितना भी खराब वक्त रहा हो, लेकिन रायबरेली और अमेठी संसदीय सीटों पर उसे जीत मिलती रही है। रायबरेली से सोनिया गांधी और अमेठी से राहुल गांधी जीत दर्ज करते रहे हैं, लेकिन इस बार बीजेपी की दिग्गज महिला नेता स्मृति ईरानी ने अमेठी में राहुल को मात दे दी है। खुद राहुल गांधी ने अमेठी सीट पर परिणाम घोषित होने से पहले ही पराजय स्वीकार कर ली। 1967 में अस्तित्व में आई अमेठी सीट पर यह तीसरा मौका है, जब कांग्रेस पार्टी को हार का सामना करना पड़ा है। इस हार में एक दिलचस्प आकड़ा 21 नंबर का भी है। हर 21 साल बाद कांग्रेस का यहां हारने का इतिहास रहा है और यह बात राहुल गांधी की हार में भी कायम रही है। पहली बार 1977 में इंदिरा गांधी की ओर से आपातकाल लगाए जाने के विरोध में देश भर में कांग्रेस विरोध लहर के दौरान संजय गांधी इस सीट से परास्त हुए थे। यह पहला मौका था, जब अमेठी सीट कांग्रेस के हाथ से छिनी थी। उन्हें जनता पार्टी के रविंद्र प्रताप सिंह ने परास्त किया था। इसके ठीक 21 साल बाद 1998 में कैप्टन सतीश शर्मा को पराजय झेलनी पड़ी थी। उन्हें बीजेपी कैंडिडेट संजय सिंह ने परास्त किया था। 1998 के बाद अब फिर 21 साल पूरे हुए हैं और कांग्रेस के लिए नतीजा पार्टी अध्यक्ष राहुल गांधी की हार के तौर पर सामने आया है।

स्मृति अमेठी का प्यार से ख्याल रखें

राहुल गांधी ने कहा कि अमेठी के नतीजे पर मैं कहना चाहूंगा कि स्मृति ईरानी जी जीती हैं, उन्हें मैं बधाई देना चाहता हूं। अमेठी की जनता ने अपना फैसला दिया है, मैं उस फैसले का सम्मान करता हूं। यह लोकतंत्र है। मैं चाहता हूं कि स्मृति ईरानीजी प्यार से अमेठी की जनता की देखभाल करें और जो भरोसा अमेठी की जनता ने उन पर जताया है, उसे वो पूरा करें।

कौन कहता है आसमां में सुराख नहीं हो सकता

लोकसभा चुनाव  में एक बार फिर बीजेपी के सिर सेहरा बंधा है। पीएम नरेंद्र मोदी की इस लहर में कांग्रेस अपने पारंपरिक गढ़ अमेठी को भी गंवा बैठी है। कांग्रेस का गढ़ कही जाने वाली अमेठी में बीजेपी ने जीत दर्ज की है। केंद्रीय मंत्री और बीजेपी प्रत्याशी स्मृति ईरानी ने अमेठी संसदीय सीट से कांग्रेस अध्यक्ष राहुल गांधी को हरा दिया है। राहुल गांधी ने प्रेस कान्फ्रेंस में अमेठी से हार स्वीकारी है। स्मृति ईरानी की अमेठी में जीत से फिल्म इंडस्ट्री बेहद खुश है। सभी एक्टर और एक्ट्रसेस स्मृति ईरानी को बधाइयां दे रहे हैं। स्मृति ईरानी ने एक ट्वीट किया है और लिखा हैः ‘कौन कहता है आसमां में सुराख नहीं हो सकता…’

You might also like