अमेठी में राहुल की हार के कारणों की गहन पड़ताल में जुटा जांच दल

Image result for rahul gandhiनई दिल्ली –  उत्तर प्रदेश की अमेठी लोकसभा सीट से कांग्रेस अध्यक्ष राहुल गांधी की हार के कारणों की पड़ताल करने गयी पार्टी की टीम वहां गहन जांच में जुट गयी है। कांग्रेस अध्यक्ष की परंपरगत सीट से उनके हार के कारणों का पता लगाने के लिए पार्टी ने 30 मई को दो सदस्यीय दल गठित किया था और उन्हें तत्काल अमेठी जाने को कहा था। दल के दोनों सदस्य के एल शर्मा तथा जुबेर खान ने शुक्रवार को जिला कांग्रेस समिति के कई नेताओं से इस संबंध में मुलाकात की। टीम के सदस्य अमेठी लोकसभा क्षेत्र के तहत आने वाले सभी नौ विधानसभा क्षेत्रों में जाकर कांग्रेस नेताओं से बातचीत करेंगे। जांच दल अगले सप्ताह तक रिपोर्ट दे सकता है। जांच दल के सदस्य के एल शर्मा ने यूनीवार्ता को बताया कि गौरीगंज में उन्होंने कई लोगों से बातचीत की है और कई चौंकाने वाले खुलासे सामने आये हैं। गौरीगंज में लोगों से बातचीत करने के बाद अब जांच दल तिलोई में लोगों से संपर्क करेगा और कुछ नये सवालों के साथ कार्यकर्ताओं से बातचीत करेगा। अमेठी लोकसभा क्षेत्र से श्री गांधी की हार की नैतिक जिम्मेदारी लेते हुए अमेठी के जिला कांग्रेस अध्यक्ष योगेंद्र मिश्र ने सबसे पहले पद छोड़ने की घोषणा की थी। उसके बाद प्रदेश कांग्रेस अध्यक्ष राज बब्बर तथा अन्य कई प्रदेशों के अध्यक्षों तथा पदाधिकारियों ने पद छोड़ने का एलान किया था। लोकसभा चुनाव में भारतीय जनता पार्टी की स्मृति ईरानी ने श्री गांधी को 55 हजार मतों से पराजित किया था। पिछली बार भी उन्होंने श्री गांधी को कड़ी टक्कर दी थी और उनकी जीत का अंतर 2009 के 3.70 लाख मतों की तुलना से घटकर करीब 1.5 लाख रह गया था। श्री गांधी ने पहली बार 2004 में अमेठी से लोकसभा का चुनाव जीता था।

 

You might also like