अस्थायी ढाबा संचालकों ने उड़ाई वोल्वो आपरेटरों की नींद

मनाली। समर सीजन की शुरुआत में ही जहां मनाली में सैलानियों की भारी संख्या दर्ज की जा रही है, वहीं वोल्वो बस अड्डा भी गाडि़यों से पैक हो गया है। यहां वाहनों को पार्क करने के लिए जहां चालकों को खासी मश्क्कत करनी पड़ रही है, वहीं यहां अस्थायी तौर पर चल रहे ढ़ाबों ने वोल्वो बस आपरेटरों की नींद उड़ा डाली है। आपरेटरों का कहना है कि बस अड्डे के समीप ही 40 से 45 ढ़ाबे चल रहे हैं, जबकि इन्हें यहां किसने ढ़ाबा चलाने के लिए जगह दी इसका किसी को कुछ पता नहीं है। उनका कहना है कि अगर इन ढाबों में किसी भी तरह की आगजनी की घटना घटती है, तो बस अड्डे पर खड़ी बसों को भी राख होने से कोई नहीं बचा चकता। ऐसे में मनाली सुपर लग्जरी वोल्वो ऑनर एसोसिएशन की चेयरमैन लाजबंती शर्मा ने एसडीएम मनाली व उपायुक्त कुल्लू से मांग की है कि वोल्वो बस अड्डे के समीप से इन अस्थायी ढ़ाबों को दूसरी जगह स्थापित किया जाए, ताकि किसी भी तरह का कोई बड़ा हादसा न हो सके। उन्होंने कहा कि समर सीजन में जहां वोल्वो बस स्टैंड में पहले ही गाडि़यों को पार्क करने के लिए वाहन चालकों को खासी दिक्कतों का सामना करना पड़ता है, वहीं बस अड्डे के समीप चल रहे अस्थायी ढाबांे से यहां आगजनी का खतरा भी बढ़ गया है। उन्होंने कहा कि प्रशासन से उन्होंने उक्त समस्या का समाधन करने की मांग रखी है। उन्होंने कहा कि इसके अलावा बाइपास सड़क पर स्पीड ब्रेकर वोल्वो बस स्टैंड के समीप बनवाने की भी एसोसिएशन प्रशासन से मांग करता है। उन्होंने कहा कि मनाली में समर सीजन के दौरान जहां वोल्वो बसों की संख्या में लगातार इजाफा दर्ज किया जा रहा है, वहीं वोल्वो बस स्टैंड बारूद के ढेर पर चल रहा है इस बात को भी नजर अंदाज नहीं किया जा सकता। उन्होंने कहा कि उक्त अस्थायी ढाबों में किसी भी तरह का आग बुझाने के यंत्र नहीं है। ऐसे में इन अस्थायी ढाबों को वोल्वो बस स्टैंड से कहीं और शिफ्ट करने की मांग एसोसिएशन प्रशासन से मांग करती है।

You might also like