आखिर कब बनेगी मुबारिकपुर-दौलतपुर सड़क

पहले कांग्रेस अब भाजपा कर रही अनदेखी, निर्माण की धीमी चाल से हर कोई हैरान

अंब –मुबारिकपुर-दौलतपुर निर्माणधीन मुख्य मार्ग पिछले करीब सात वर्षों से सुर्खियों पर चला आ रहा हैं। पिछले पांच वर्ष तक कांग्रेस की सरकार व कांग्रेस का विधायक होने के बावजूद इस मार्ग की स्थिति बद से बदतर होती चली गई। जिसके कारण भाजपा ने इस मुद्दे को हाथों हाथ लेकर ऐसी सुर्खिया बटोरी की तत्कालीन विधायक राकेश कालिया को लोगों के गुस्से का खामियाजा अपनी भारी हार से चुकाना पड़ा। भाजपा के विधायक राजेश ठाकुर ने अपनी सरकार बनने के बाद सबसे पहले सीएम को अपने विधानसभा क्षेत्र में बुलाकर लगभग 20 करोड़ की राशि से बनने वाले इस मार्ग का उद्घाटन करवाकर लोगों का दिल जीतने का प्रयास किया। लेकिन एक वर्ष से भी अधिक समय निकल जाने के बावजूद मार्ग के निर्माण कार्य की रफ्तार कछुए की चाल जैसी बनी हुई है। मुबारिकपुर से दौलतपुर तक सड़क किनारे करीब 100 दुकानंे व 150 के करीब आशियानों में रह रहे हजारों लोगों की धूल मिट्टी के चलते नरक की जिंदगी बन गई है। स्थानीय दुकानदार लाल सिंह, परमजीत, मिंटू ठाकुर, गुरमीत, विक्की, उपप्रधान दविंद्र काकू आदि ने बताया कि उक्त मार्ग से प्रतिदिन सैकड़ों की संख्या में वाहनों का आवागमन होने से पूरा क्षेत्र सड़क से उड़ने वाली मिट्टी से नरकमय बना हुआ है। हालात यह है कि दो दर्जन के करीब दुकानदार दुकानें बंद कर घर बैठने पर मजबूर हो गए है। उन्होंने बताया कि मार्ग को बनाने वाली लेबर कभी मुबारिकपुर में तो कभी दौलतपुर में पहुंच जाती है। जिसके कारण काम की कोई प्रोग्रेस नहीं दिख रहीं है। उधर, एसडीओ लोक निर्माण बलदेव कुमार ने बताया की काम को जल्द मुकम्मल करवाने के लिए विभाग प्रयासरत हैं। लेकिन सड़क किनारे बिजली के पोल मुश्किल पैदा कर रहे हैं। एसडीओ विद्युत देवराज बंसल से बात करने पर उन्होंने बताया कि आचार संहिता के कारण टेंडर अवॉर्ड नहीं हो पा रहे हंै। जिसके कारण देरी हुई है। आचार संहिता समाप्त होते ही बिजली पोल हटाने का काम शुरू कर दिया जाएगा।

You might also like