आज ईवीएम से निकलेगी सरकार

542 लोकसभा सीटों और चार राज्यों के विधानसभा चुनावों की मतगणना सुबह आठ बजे से होगी शुरू

8 बजे सुबह पोस्टल बैलेट के साथ शुरू होगी मतगणना

8:30 तक देश भर से आने लगेंगे प्रत्याशियों के रुझान

9 बजे ईवीएम मशीनें खुलने से मतगणना होगी तेज

11 बजे के आसपास सामने आ सकता हैं पहला रिजल्ट

शाम 3 बजे तक साफ हो जाएगा, किसकी बन रही है सरकार

शिमला – भारत में नई सरकार को लेकर चल रहीं तमाम अटकलों पर गुरुवार को होने वाली मतगणना के बाद विराम लग जाएगा और यह भी साफ हो जाएगा कि प्रधानमंत्री मोदी एग्जिट पोल्स के दावों के अनुसार प्रचंड बहुमत से फिर सरकार बनाने जा रहे हैं या राहुल गांधी कांग्रेस को फिर से मुकाबले में ले आए हैं। मतगणना के लिए सभी तैयारियां पूरी कर ली गई हैं। निर्वाचन आयोग गुरुवार को 542 लोकसभा सीटों और चार राज्यों आंध्र प्रदेश, ओडिशा, अरुणाचल प्रदेश और सिक्किम की विधानसभा चुनावों की मतगणना सुबह आठ बजे से करने वाला है। देश की ही तरह हिमाचल प्रदेश में लोकसभा के वोटों की गिनती कड़ी सुरक्षा के बीच सुबह आठ बजे आरंभ होगी। सबसे पहले फौजियों के पोस्टल बैलेट पेपर की काउंटिंग होगी। इसके आधे घंटे बाद साढ़े आठ बजे ईवीएम के माध्यम से वोटों की गिनती शुरू की जाएगी। ईवीएम से मतगणना पूरी होने के बाद अंत में वीवीपैट के वोट काउंट होंगे। इसके लिए प्रदेश भर में 18 मतगणना केंद्र स्थापित किए गए हैं। इनमें अब तक 36 हजार 953 फौजी मतदाताओं के पोस्टल बैलेट पेपर पहुंच चुके हैं। इसके मद्देनजर केंद्रीय चुनाव आयोग ने नतीजे जल्द घोषित करने के लिए कांगड़ा जिला में 50 तथा हमीरपुर में 48 अतिरिक्त काउंटिंग टेबल स्थापित करने को कहा है। रोचक है कि प्रदेश के उन पांच मतदान केंद्रों के वीवीपैट मतों की गिनती होगी, जहां मॉक पोल के वोट डिलीट नहीं किए हैं। इसके चलते सोलन जिला के कश्मीरपुर, मंडी के सलवाहन, चौक तथा कुल्लू के ढालपुर मतदान केंद्र के वोटों की गिनती वीवीपैट के मतों के आधार पर की जाएगी। जाहिर है कि इन मतदान केंद्रों में वोटिंग के दौरान पोलिंग पार्टियों ने मॉक पोल के वोट डिलीट नहीं किए थे। इस प्रक्रिया के पूरी होने के बाद ही हर विधानसभा क्षेत्र के पांच मतदान केंद्रों का रेंडमली चयन कर वीवीपैट की गिनती होगी। इस आधार पर प्रदेश के चारों संसदीय क्षेत्रों के नतीजे घोषित होंगे।

3650953 हिमाचली वोटर सुनाएंगे फैसला

हिमाचल प्रदेश के चार भावी सांसदों का फैसला राज्य के 36 लाख 50 हजार 953 मतदाता करेंगे।  बुधवार तक 37 हजार के करीब पोस्टल बैलेट पेपर पहुंच चुके थे। यह आंकड़ा 40 हजार तक पहुंच सकता है।

कुल 45 प्रत्याशियों का होगा फैसला

शुक्रवार को होने वाली मतगणना के दौरान कांग्रेस और भाजपा सहित 45 प्रत्याशियों के भाग्य का फैसला होना है। हालांकि हार-जीत का अंतर कांग्रेस और भाजपा प्रत्याशियों में होना हैं। हमीरपुर, मंडी, कांगड़ा और  शिमला सीट पर एकसाथ आठ बजे शुरू हो जाएगी मतगणना।

You might also like