आज का समय ग्लोबल युग है

लोक संपर्क में करियर संबंधित विस्तृत जानकारी प्राप्त करने के लिए हमने बतौर पत्रकार अपनी सेवाएं प्रदान करने के बाद सरकारी विभाग में बतौर जिला लोक संपर्क अधिकारी सेवाएं प्रदान कर रहे विनय शर्मा से खास बातचीत की…

विनय शर्मा डीपीआरओ, धर्मशाला

जन संपर्क में करियर बनाने के लिए शैक्षणिक योग्यता क्या है?

जन संपर्क में करियर बनाने के लिए बीजीएमसी, एमजीएमसी और एमएमसी होना अनिवार्य है।

जन संपर्क में छात्रों का क्रेज किस वजह से बढ़ रहा है?

आज का समय ग्लोबल युग है, हर इंडस्ट्री, कंपनी व कोरपोरेट क्षेत्र को अपनी ब्राडिगं और पीआर बनाने की आवश्यकता रहती है, इसके चलते इस इंडस्ट्री में भी अब खूब क्रेज देखने को मिल रहा है।

विषय  के आधार पर क्या जन-संपर्क और जन-संचार एक ही हैं?

जन संपर्क और जन संचार एक ही सिक्के के दो पहलू हैं। ये दोनों ही विषय अलग होने के साथ-साथ गूड रूप से जुड़े हुए भी हैं, जिससे दोनों का अध्ययन हर पहलू में जरूरी है।

रोजगार के अवसर किन क्षेत्रों में उपलब्ध हैं?

आज का युग पूरी तरह से जन संपर्क पर अधारित है। कोरपोरेट स्केटर, सरकारी विभाग, विश्वविद्यालय से लेकर संस्थानों व कंपनियों में भी लोक संपर्क में रोजगार उपलब्ध है।

जन संपर्क में कोर्स कहां-कहां से किए जा सकते हैं?

अब जन संपर्क की मांग बढ़ने पर हर प्रदेश के विश्वविद्यालय सहित कॉलेजों में भी कोर्स शुरू कर दिए गए हैं।

इसके लिए प्रार्थी में क्या निपुणताएं होना जरूरी है?

 किसी भी छात्र को भाषाओं में अच्छी पकड़ होना जरूरी है। इसके आधार पर ही लोक संपर्क सहित पत्रकारिता के क्षेत्र में भी काफी अधिक स्कोप युवाओं के लिए उपलब्ध हैं।

-नरेन कुमार, धर्मशाला

You might also like