आज थमेगा चुनावी शोर

कल डोर-टू-डोर ही वोट मांग सकेंगे प्रत्याशी, रविवार सुबह सात बजे से वोटिंग

शिमला – लोकसभा चुनाव के लिए शुक्रवार शाम साढ़े पांच बजे प्रचार का शोर थम जाएगा। हिमाचल प्रदेश में 19 मई यानी रविवार को सुबह सात से शाम छह बजे तक वोटिंग होगी। निर्वाचन आयोग द्वारा तय नियमों के मुताबिक मतदान से 36 घंटे पहले प्रचार थम जाता है। ऐसे में रैली, जनसभाएं एवं नारेबाजी नहीं होंगी, राजनीतिक दल सिर्फ डोर-टू-डोर मतदाताओं से वोट मांग सकेंगे। राज्य निर्वाचन विभाग ने सभी जिला निर्वाचन अधिकारियों को सख्त निर्देश दिए हैं कि वे चुनावी नियमों को ध्यान में रखते हुए सभी राजनीतिक दलों को हिदायत भी दें। उल्लेखनीय है कि 11 मार्च को देश में चुनावी बिगुल बजने के बाद से लेकर प्रदेश में कांग्रेस और भाजपा दोनों राजनीतिक दलों ने करीब 65 दिनों तक प्रचार में पूरी ताकत झोंक दी। ऐसे में अब शुक्रवार को अंतिम दिन जनसभाएं होंगी और 18 मई को मतदाताओं के घर द्वार जाकर वोट की अपील की जाएगी। प्रदेश में स्वतंत्र, निष्पक्ष एवं शांतिपूर्ण मतदान प्रक्रिया सुनिश्चित बनाने के लिए शुक्रवार शाम छह बजे से 19 मई की शाम छह बजे तक शराब की बिक्री पर पूर्ण प्रतिबंध रहेगा। इस दौरान किसी भी प्रकार की मदिरा एवं अन्य मादक द्रव्यों की न तो बिक्री होगी और न ही किसी होटल, रेस्तरां, दुकान, सार्वजनिक स्थल इत्यादि में ये उपलब्ध होंगे। जिला के किसी भी ठेके, होटल, रेस्तरां, क्लब अथवा संस्थान में शराब को बेचनेअथवा बांटने की अनुमति नहीं होगी। इस अवधि में मदिरा के संग्रह पर भी रोक रहेगी। राज्य निर्वाचन विभाग से मिली जानाकरी के मुताबिक 23 मई को मतगणना दिवस पर भी ड्राई-डे रहेगा।

53 लाख मतदाता लेंगे महापर्व में भाग

हिमाचल प्रदेश में इस बार 53 लाख 30 हजार 154 मतदाता लोकतंत्र के इस महापर्व में भाग लेंगे। इनमें से 27 लाख 24 हजार 111 पुरुष मतदाता, 26 लाख पांच हजार 996 महिला मतदाताओं के अलावा 47 तृतीय लिंग मतदाता दर्ज हैं। प्रदेश में पहली बार वोट देने वालों की संख्या एक लाख 52 हजार 390 है। इसी तरह 30 वर्ष से कम आयु सीमा के मतदाताओं की संख्या 13 लाख 34 हजार 823 है। इस बार 100 साल से ज्यादा उम्र के 999 मतदाता हैं और इन शतकवीरों को मतदान केंद्रों तक लाने के लिए विशेष व्यवस्थाएं की गई हैं।

कांगड़ा संसदीय क्षेत्र में सबसे ज्यादा वोटर

कांगड़ा संसदीय क्षेत्र में कुल मतदान केंद्र 1874 हैं, जहां पर मतदाताओं की कुल संख्या 14,27,338 है। इसी तरह से मंडी संसदीय क्षेत्र में 2079 मतदान केंद्र व मतदाताओं की कुल संख्या 1281462 है। हमीरपुर संसदीय क्षेत्र में 1764 मतदान केंद्रों में 13,62,269 मतदाता तथा शिमला संसदीय क्षेत्र में 2006 मतदान केंद्रों पर 1259085 मतदाता मतदान करेंगे।

You might also like