आम चुनावों में बल्ह ने कभी नहीं छोड़ा भाजपा का साथ

नेरचौक—2004 से लेकर अब तक के लोकसभा चुनावों में बल्ह विधानसभा क्षेत्र ने अधिकांश बार भाजपा का साथ दिया है। इस बार भाजपा ने यहां से लोकसभा चुनावों मे 33 हजार से ज्यादा मतों की बड़ी बढ़त हासिल की है। 2004 से अब तक हुए पांच लोकसभा चुनावों मे बल्ह ने चार चुनावों में भाजपा का साथ दिया है। 2004 मे प्रदेश मंे वीरभद्र सिंह की सरकार थी। लोकसभा चुनावों में मुकाबला कांग्रस प्रत्याशी प्रतिभा सिंह और भाजपा प्रत्याशी महेश्वर सिंह के बीच में था। इस चुनाव को प्रतिभा सिंह ने जीता, लेकिन बल्ह विधानसभा क्षेत्र से भाजपा प्रत्याशी महेश्वर सिंह को 1577 मतों की बढ़त मिली। 2009 मंे प्रदेश मे सत्ता परिवर्तन हो चुका था और प्रदेश की भाजपा सरकार की कमान प्रेम कुमार धूमल के पास थी। इस बार मुकाबला भाजपा के महेश्वर सिंह और कांगे्रस से वीरभद्र सिंह के बीच में हुआ। इस चुनाव मे मंडी संसदीय सीट में दोनों प्रत्याशियों के बीच मे कड़ा मुकाबला हुआ और अंतिम समय मे बाजी 13997 मतों के अंतर से वीरभद्र सिंह के पक्ष मे छूटी, लेकिन इस बार भी बल्ह विधानसभा क्षेत्र भाजपा के साथ खड़ा रहा और यहां से भाजपा प्रत्याशी को 930 मतों की बढ़त मिली। इन चुनावों मंे देश भर में चल रही मोदी लहर के बीच मे भाजपा प्रत्याशी रामस्वरूप शर्मा ने 39856 मतों से चुनाव जीता। इस चुनाव में बल्ह ने एक बार फिर भाजपा का साथ देते हुए भाजपा प्रत्याशी को 5252 मतों की बढ़त दी। इस हार के बाद बल्ह के कंसा में आए वीरभद्र सिंह ने मंडी मंे ब्राह्मणवाद चलने की भी बात कही थी, जो उस समय खूब चर्चित रही थी।

You might also like