इंस्पायर अवार्ड से स्कूलों का किनारा

हमीरपुर के अभी तक 25 फीसदी ने किया आवेदन, बाकी स्कूलों की एफिलिएशन हो सकती है रद्द

हमीरपुर -इंस्पायर मानक अवार्ड में स्कूल रुचि नहीं दिखा रहे हैं। अभी तक 25 फीसदी स्कूलों ने ही इसके लिए आवेदन किया है। अगर कोई स्कूल इसमें रुचि नहीं दिखाता है, तो संबंधित स्कूलों की एफिलिएशन रद्द हो सकती है। जिला के सरकारी व निजी वरिष्ठ माध्यमिक एवं माध्यमिक स्कूल इंस्पायर मानक आवार्ड के लिए जल्द से जल्द आवेदन करें। अभी तक काफी कम संख्या में स्कूलों ने अप्लाई किया है। जिला में सरकारी व प्राइवेट करीब 450 स्कूल हैं। विभाग ने आवेदन करने की तिथि 30 जून निर्धारित की है। अगर फिर भी कोई स्कूल इसके बाद भी आवेदन नहीं करता है, तो विभाग द्वारा संबंधित स्कूलों की एफिलिएशन रद्द करने की डिमांड भेजी जाएगी। गौर रहे कि इंस्पायर मानक अवार्ड स्कीम के तहत छठीं से बारहवीं छात्रों की नामोनेशन ऑनलाइन करनी होती है। इसके तहत छात्रों के विचारों को मॉडल बनाने हेतु चयन करके ऑनलाइन करना था, ताकि छात्रों की सोच को विकसित करके उनकी रुचि को विज्ञान में बढ़ाया जा सके। इसके तहत प्रत्येक छात्र को दस हजार रुपए मॉडल बनाने हेतु विज्ञान एवं प्रौद्योगिक विभाग की ओर से ग्रांट मिलती है। इस स्कीम के तहत मिलियन लोगों की मिलियन सोच को स्क्रीन करके अच्छे व इनोवेटिव आईईबी को पहचान करके राष्ट्रीय स्तर पर विज्ञान एवं प्रोद्योगिकी से जोड़ना है।

You might also like