इलाज के लिए टांडा पहुंचे दलाईलामा

कांगड़ा, गगल—तिब्बति समुदाय के सर्वाेच्च धर्मगुरु दलाईलामा को बीमारी की हालत में मंगलवार को डा. राजंेद्र प्रसाद मेडिकल कालेज एवं अस्पताल टांडा मंे लाया गया। बीमारी की हालत में टांडा अस्पताल पहुंचाए गए धर्मगुरु को अस्पताल मंे स्वास्थ्य सुविधाएं प्रदान करने के लिए अस्पताल स्टाफ भी जुट गया। इतना ही नहीं अस्पताल मंे कंेद्रीय गृह मंत्रालय के अधिकारियांे सहित कंेद्रीय तिब्बत प्रशासन के अधिकारी भी अस्पताल में मौजूद रहे। अस्पताल की प्रथम मंजिल पर स्थित सघन चिकित्सा कक्ष में उपचार के उपरांत दलाईलामा के लिए रिजर्व प्राइवेट रूम मंे भी उन्हंे रखा गया। एकदम से पुलिस अमले सहित अन्य अधिकारियांे की भागदौड़ को देखकर वहां पर उपस्थित मरीज तथा उनके तीमारदार भी हैरान हो गए। अस्पताल में दलाईलामा का उपचार करने के बाद उन्हंे हवाई मार्ग द्वारा दिल्ली भेजा गया। 14वंे दलाईलामा के स्वास्थ्य को लेकर अलर्ट हुए कंेद्रीय गृह मंत्रालय तथा तिब्बती प्रशासन ने मंगलवार को डा. राजंेद्र प्रसाद मेडिकल कालेज एवं अस्पताल टांडा सहित गगल एयरपोर्ट पर मॉकड्रिल का आयोजन किया। इस दौरान आपात स्थिति के दौरान दलाईलामा को टांडा अस्पताल लाने तथा गगल एयरपोर्ट से उन्हंे विशेष विमान द्वारा दिल्ली भेजने संबंधी व्यवस्थाआंे को लेकर पूर्वाभ्यास किया गया। इस मॉकड्रिल को पूरी तरह से गुप्त रखा गया था। दिल्ली से गृह मंत्रालय के अधिकारी विशेष रूप से इस मॉकड्रिल में व्यवस्थाआंे को जांचने के लिए पहुंचे थे। दोपहर करीब एक बजे अस्पताल प्रशासन को फोन आया कि दलाई लामा का स्वास्थ्य खराब है तथा उन्हंे टांडा अस्पताल लाया जा रहा है। जिसके बाद अस्पताल प्रशासन पूरी तरह से अलर्ट हो गया।   टांडा अस्पताल में स्वास्थ्य उपचार की व्यवस्थाआंे को जांचने के बाद आपात स्थिति के दौरान गगल एयरपोर्ट पर भी लैंडिंग और टेक ऑफ को लेकर व्यवस्थाआंे को जांचा जा गया। इस दौरान हर एक मिनट को रिकार्ड रखा गया। इस पूर्वाभ्यास में सामने आई खूबियांे तथा कमियांे का पूरा कंेद्रीय गृह मंत्रालय को भी सौंपा जाएगा। यदि उन्हंे राज्य से बाहर भी ले जाना पड़ता है तो गगल एयरपोर्ट पर भी किसी प्रकार की परेशानी का सामना न करना पड़े। इस मॉकड्रिल को पूरी तरह से गोपनीय रखा गया था। इसमंे गृह मंत्रालय, तिब्बती  प्रशासन, प्रदेश पुलिस तथा टांडा अस्पताल का स्टाफ मौजूद रहा।

मकलोडगंज से 1:25 चला दलाईलामा का अमला

दलाईलामा का अमला दोपहर बाद एक बजकर 25 मिनट पर मकलोडगंज से चला तथा दो बजकर तीन मिनट पर टांडा पहुंचा। अभ्यास के तौर पर एंबुलंेस में लाए गए मरीज को तुरंत प्रथम मंजिल पर स्थित सघन चिकित्सा कक्ष में लाया गया तथा वहां पर चिकित्सकांे की टीम ने उपचार किया। मॉकड्रिल के दौरान अस्पताल में दलाईलामा को प्रदान की जाने स्वास्थ्य सुविधाआंे को लेकर अभ्यास किया गया।

You might also like