इलेक्ट्रिक बस के सफर को करो थोड़ा इंतजार

मनाली—सैलानियों को रोहतांग की सैर व इलेक्ट्रिक बस के सफर के लिए अब इंतजार करना पड़ेगा। एचआरटीसी प्रबंधन ने जहां पहले यह निर्णय लिया था कि सैलानियों के लिए मढ़ी बहाल होने के बाद निगम भी मनाली से मढ़ी के लिए इलेक्ट्रिक बसें चला देगा, वहीं अब निगम प्रबंधन ने यह निर्णय लिया है कि रोहतांग दर्रे के बहाल होने के बाद ही मनाली से रोहतांग के लिए इलेक्ट्रिक बसें चलाई जाएंगी। बता दें कि एनजीटी के आदेशों पर ही एचआरटीसी ने रोहतांग के लिए 25 इलेक्ट्रिक बसें खरीदी हैं और सीजन के दौरान मनाली से रोहतांग रूट पर सैलानियों को इलेक्ट्रिक बसों में सैर करवाई जाती है। मनाली में समर सीजन का आगाज हो चुका है, लेकिन देश में लोकसभा चुनावों के चलते इस बार मनाली में मई माह में भी सैलानियों की कम ही संख्या देखने को मिल ही है, वहीं करोबारियों को उम्मीद है कि 15 मई के बाद मनाली में सैलानियों की संख्या बढ़ने लगेगी। बीआरओ ने जहां रोहातांग बहाली के लिए दिनरात एक कर रखा है और यह दावा किया जा रहा है कि 19 मई तक रोहतांग को बहाल कर दिया जाएगा, वहीं अब एचआरटीसी भी नई योजना पर काम करने जा रहा है। योजना के तहत मनाली में सैलानियों की चहलकदमी बढ़ने के बाद ही निगम रोहतांग के लिए अपनी इलेक्ट्रिक बस सेवा को शुरू करेगा। बता दें कि एचआरटीसी का कुल्लू डिपो निगम के कामाउ पूतों में शामिल है। लिहाला निगम प्रबंधन मनाली के समर सीजन में कमाई बढ़ानें को लेकर जहां कसरत कर रहा है, वहीं इलेक्ट्रिक बसों को भी समर सजीन के योवन पर पहुंचते ही रोहतांग के लिए चलाने की बात कह रहा है। अधिकारियों का कहना है कि सैलानियों को रोहतांग बहाली के बाद ही एचआरटीसी की इलेक्ट्रिक बसों की सुविधा मिल पाएगी। ऐसे में मनाली के पर्यटन करोबार पर जहां निगम प्रबंधन नजर बनाए हुए है, वहीं समर सीजन की हर हलचल पर निगम का ध्यान है। मनाली प्रशासन ने जहां सैलानियों के लिए रोहतांग के समीप मढ़ी को बहाल किया है, वहीं मढ़ी मंे सैलानी बर्फ में जकर मौजमस्ती कर रहे हैं। लिहाजा समर सजीन को लेकर एचआरटीसी प्रबंधन भी सीजन की रफ्तार पर नजर बनाए हुए है। गौरतलब है कि गत वर्ष निगम को मनाली-रोहतांग रूट पर दौड़ाई गई इलेक्ट्रिक बसों ने मालामाल कर दिया था। ऐसे में निगम प्रबंधन एक बार फिर इलेक्ट्रिक बसों को रोहतांग के लिए दौड़ाने से पहले रणनीति तैयार करने में जुटा हुआ है। सैलानियों केा विशेष पैकेज के तहत जहां निगम रोहतांग की सैर करवाने की योजना बना रहा है,  उधर, एचआरटीसी के कुल्लू डिपो के आरएम डीके नारंग का कहना है कि रोहतांग दर्रे की बहाली के बाद ही इलेक्ट्रिक बसों को मनाली से रोहतांग के लिए चलाया जाएगा। मनाली में पर्यटन सीजन जैसे ही रफ्तार पकड़ेगा उसकी के बाद निगम बसों को चलाने की योजना पर काम करेगा।

You might also like