इलेक्ट्रोहोम्योपैथी पर सजी कार्यशाला

परेल में डा. संजीव शर्मा व डा. आरसी प्रजापति ने किया शुभारंभ

चंबा -इलेक्ट्रोहोम्योपैथी पर आधारित पांच दिवसीय राष्ट्रीय कार्यशाला का शुभारंभ बुधवार को मुख्यालय के परेल कस्बे में हुआ।  कार्यशाला का शुभारंभ इलेक्ट्रोहोम्योपैथी रिसर्च फोरम के राष्ट्रीय संयोजक एवं विशेषज्ञ डा. संजीव शर्मा व महाराष्ट्र के वरिष्ठ चिकित्सक डा. आरसी प्रजापति ने विधिवत तरीके से दीप प्रज्वलित करके किया। कार्यशाला के उद्घाटन सत्र में हिमाचल प्रदेश आयुर्वेदिक चिकित्सक संघ के प्रदेशाध्यक्ष डा. केशव वर्मा ने बतौर मुख्यातिथि शिरकत की गई। इलेक्ट्रोहोम्योपैथी रिसर्च फोरम की ओर से मुख्यातिथि को स्मृति चिन्ह भेंटकर सम्मानित किया गया। उन्होंने अपने संबोधन में इलेक्ट्रोहोम्योपैथी चिकित्सा पद्धति को काफी कारगर बताया। उन्होंने कहा कि हर्बल दवाओं के द्वारा उपचार से मानव शरीर को किसी प्रकार की हानि नहीं होती। उन्होंने कहा कि इलेक्ट्रोहोम्योपैथी चिकित्सा प्रणाली से हर बीमारी का इलाज संभव है। डा. संजीव शर्मा ने व्यक्ति के स्वभाव, प्रकृति व शारीरिक बनावट के अनुरूप निदान करने की विभिन्न तरीकों के बारे में विचार साझा किए। डा. सुरेंद्र ठाकुर ने हिमाचल प्रदेश समेत देश के विभिन्न राज्यों में इलेक्ट्रोहोम्योपैथी चिकित्सा पद्धति के प्रचार- प्रसार के बारे में विस्तार से जानकारी दी। इस पांच दिवसीय राष्ट्रीय कार्यशाला में हिमाचल के अलावा पंजाब, हरियाणा, दिल्ली, चंडीग़ढ, उत्तराखंड, उतर प्रदेश, झारखंड, छतीसगढ़, मध्यप्रदेश व महाराष्ट्र के करीब 125 चिकित्सक हिस्सा ले रहे हैं। कार्यशाला के दौरान चिकित्सकों को फील्ड विजिट भी करवाया जाएगा। इस पांच दिवसीय कार्यशाला का समापन रविवार पांच मई को होगा।

You might also like