इस्तीफा वापस लें राहुल गांधी, आज की हार कल जीत में बदलेंगे

हिमाचल कांगे्रस कार्यकारिणी की बैठक में सर्वसम्मति से प्रस्ताव

शिमला – हिमाचल प्रदेश कांग्रेस कार्यकारिणी ने बुधवार को सर्वसम्मति से राष्ट्रीय अध्यक्ष राहुल गांधी के अध्यक्ष पद से दिए त्यागपत्र को पार्टी व देश हित में वापस लेने का आग्रह किया। इस संदर्भ में प्रदेश कांग्रेस ने एक प्रस्ताव पारित कर राष्ट्रीय कांग्रेस कार्यसमिति को भेजा, जिसमें राहुल गांधी से अपने फैसले को वापस लेने का आग्रह किया है। प्रदेश अध्यक्ष कुलदीप राठौर ने प्रदेश कार्यकारिणी में प्रस्ताव रखा कि लोकसभा चुनावों में पार्टी की हार से हमें किसी भी प्रकार से हतोत्साहित होने की जरुरत नहीं है। राहुल गांधी ने देश में जिस प्रकार चुनाव प्रचार किया, उसमें कोई कमी नहीं थी। पार्टी के प्रति लोगों में भी भारी उत्साह था। उन्होंने कहा कि यह समय हमें एक दूसरे पर आरोप प्रत्यारोप लगाने का नहीं है, कांग्रेस पार्टी की मजबूती के लिए एकजुट हो कर काम करना है और भाजपा के किसी भी मंसूबों को पूरा नहीं होने देना है। पूर्व मुख्यमंत्री वीरभद्र सिंह ने इस अवसर पर कहा कि यह समय हमें अपने लीडर को मजबूत करने का है। प्रतिपक्ष के नेता मुकेश अग्निहोत्री ने कहा कि भाजपा का यह एकमात्र प्रयास रहा है कि देश को कांग्रेस मुक्त किया जाए। इसलिए वह राहुल गांधी को अध्यक्ष पद से हटाने की रणनीति पर चल रही है, पर हमें उन की इस नीति को सफल नहीं होने देना है। बैठक में चंद्र कुमार,  हर्ष महाजन, कंवर अजय बहादुर, विक्रमादित्य सिंह, इंद्रदत्त लखनपाल, विनय कुमार, मोहन लाल ब्राक्टा, केहर सिंह खाची, महेंद्र चौहान, केवल पठानिया, संजय अवस्थी, नरेश चौहान, डा. वीरू राम, महेश्वर चौहान, लखविंदर राणा, कुलदीप पठानिया, सोनिया चौहान, नसीमा बेगम, शर्मिला पटियाल, निमता रोशन, राहुल ठाकुर, राम कुमार व अन्य नेता उपस्थित रहे।

मीटिंग में नहीं आए सुक्खू

बैठक में पूर्व अध्यक्ष सुखविंदर सुक्खू समेत उनके कई समर्थक, जो कि सदस्य थे, यहां नहीं आए। उनकी गैरमौजूदगी ने भी कई सवाल उठा दिए हैं। भले ही संगठन एकजुटता की बात कर रहा है, लेकिन वह कहीं नजर नहीं आ रही।

You might also like