ईसीजी व एक्स-रे के कर्मियों ने दिया रिजाइन

नाहन -जिला सिरमौर के नाहन स्थित डा. वाईएस परमार मेडिकल कालेज में आउटसोर्स के माध्यम से तैनात ईसीजी व एक्स-रे के कर्मियों ने रिजाइन दे दिया है। हालत यह है कि मेडिकल कालेज में स्वास्थ्य सेवाएं आए दिन सुधरने की वजाय पटरी से उतरती जा रही है। मेडिकल कालेज नाहन में विभिन्न समस्याओं को लेकर आउटसोर्स के कर्मियों ने एक बार फिर काम छोड़ दिया है। मेडिकल कालेज के ईसीजी व डेंटल एक्स-रे में काम कर रहे आउटसोर्स के कर्मियों ने काम बंद कर दिया है। हालत यह है कि गत करीब एक सप्ताह से ईसीजी व एक्स-रे के मरीजों को परेशानी का सामना करना पड़ रहा है। एक ओर जहां सरकार और प्रशासन चुनावों को लेकर पूरी तरह से व्यस्त है, वहीं दूसरी ओर जिला सिरमौर का एकमात्र मेडिकल कालेज स्वास्थ्य सेवाओं को लेकर एक बार फिर हांफ गया है। डा. यशवंत सिंह परमार मेडिकल कालेज में पिछले छह दिनों से डेंटल एक्स-रे नहीं हो पा रहे हैं, जिसकी वजह एक्स-रे फिल्म का खत्म हो जाना बताया जा रहा है। हैरानी की बात है कि एक्स-रे की फिल्म की खरीद को लेकर टैंडर पर आचार संहिता का हवाला दिया जा रहा है। जहां तक चुनाव आयोग की बात की जाए तो स्वास्थ्य सेवाएं, अग्निशमन तथा अन्य आपात सेवाएं आचार संहिता से बाहर रखी गई हैं। ऐसे में एक्स-रे फिल्म न होने पर आदर्श आचार संहिता की बात गले से उतरती नजर नहीं आती है। वहीं ईसीजी के लिए लगने वाली आपरेटर की ड्यूटी शिफ्ट में से दोपहर दो बजे से आठ बजे की शिफ्ट पिछले दो दिनों से नहीं लग पा रही है। जिसको लेकर मरीजों को भारी परेशानी का सामना करना पड़ रहा है। बताया जा रहा है कि दोपहर दो बजे से लेकर आठ बजे तक चलने वाली इस शिफ्ट के आउटसोर्स कर्मी ने विभागीय परेशानियों के चलते नौकरी से इस्तीफा दे दिया है। बता दें कि ईसीजी के लिए तीन कर्मचारी आउटसोर्स में रखे गए हैं, जिनके लिए सुबह आठ बजे से दो बजे दोपहर, दो बजे से शाम के आठ बजे तक तथा शाम के आठ बजे से लेकर सुबह के आठ बजे तक शिफ्ट ड्यूटी चलती है। संभवतः इसी के चलते कहीं दोपहर की शिफ्ट वाले आउटसोर्स कर्मी ने रिजाइन तो नहीं दिया। उधर, इस संबंध में एमएस डा. डीडी शर्मा का कहना है कि ईसीजी में एक कर्मी ने रिजाइन कर दिया है। मगर काम किसी भी तरह से प्रभावित नहीं हो रहा है। उसकी जगह अन्य कर्मी को लगाया गया है।

You might also like