उत्तराखंड में बिजली की चोरी रोकेंगे कैमरे

देहरादून – उत्तराखंड में स्टील इंडस्ट्री की ओर से की जा रही बिजली चोरी की बड़ी शिकायतों पर लगाम कसने को बड़ी पहल की गई है। अब सभी संवेदनशील 33/11 केवी सब स्टेशनों पर सीसीटीवी कैमरे वाईफाई सुविधा के साथ लगेंगे। सब स्टेशन के मीटर कक्ष में सेंसर लगेंगे। मुख्यालय स्तर से इस पर बारीक नजर रखी जाएगी। हरिद्वार, यूएसनगर समेत तमाम दूसरे स्थानों में बिजली चोरी की बढ़ती शिकायतों पर सचिव ऊर्जा राधिका झा की सख्ती के बाद यूपीसीएल प्रबंधन हरकत में आया। तकनीक के जरिए कैसे बिजली चोरी को रोका जा सके, इसके लिए सिस्टम तैयार किया जा रहा है। ताजा आदेश में साफ किया गया है कि सभी संवेदनशील 33/11 केवी सब स्टेशनों में सीसीटीवी कैमरे लगेंगे। जो वाईफाई सुविधा से लैस होंगे। सभी सब स्टेशन के मीटर रूम में किसी भी तरह का मूवमेंट सेंस होने पर पुश मैसेज जेनरेट करने वाले सेंसर लगेंगे। इसकी निगरानी हर खंड स्तर पर होगी। मुख्य अभियंता वितरण पर पूरी रिपोर्ट मुख्यालय को देने का जिम्मा रहेगा। ज्यादा बिजली खपत वाले उद्योगों में डबल मीटर की व्यवस्था रहेगी। इन उद्योगों में होने वाली बिजली खपत की निगरानी का जिम्मा क्षेत्र, मंडल, खंडस्तर के अफसरों पर रहेगा। इस संबंध में सचिव ऊर्जा राधिका झा ने बताया कि यह सब बिजली चोरी रोकने और सप्लाई सिस्टम बेहतर बनाने के लिए ये प्रयास किए जा रहे हैं। 

You might also like