उदयपुर स्कूल में मेधावियों को दिया सम्मान

चंबा—स्वास्थ्य विभाग चंबा की ओर से शनिवार को राजकीय वरिष्ठ माध्यमिक पाठशाला उदयपुर में कोटपा अधिनियम 2003 के तहत जागरूकता शिविर का आयोजन किया गया। शिविर की अध्यक्षता प्राथमिक स्वास्थ्य केंद्र चनेड़ के प्रभारी डा. कर्ण हितैषी ने की। शिविर में स्वास्थ्य पर्यवेक्षक निर्मला ठाकुर और बीसीसी को-आर्डिनेटर दीपक जोशी भी विशेष तौर से मौजूद रहे। स्वास्थ्य पर्यवेक्षक नीलम ठाकुर ने उपस्थित छात्रों को कोटपा अधिनियम के बारे में विस्तार से जानकारी दी। उन्होंने कोटपा अधिनियम के कानूनी पहलुओं पर भी प्रकाश डाला। उन्होंने छात्रांे को तंबाकू के सेवन से होने वाली शारीरिक हानियों व बीमारियों को लेकर भी जागरूक किया। उन्होंने कहा कि तंबाकू के सेवन से न केवल शारीरिक हानि होती है, बल्कि हमारे आर्थिक व सामाजिक जीवन पर भी प्रभावित डालता है। डा. कर्ण हितैषी ने छात्रों को तंबाकू के सेवन न करने की सलाह दी। उन्होंने कहा कि नशे से दूर रहकर ही स्वस्थ्य जीवन जिया जा सकता है। उन्होंने छात्रों से खुद व लोगों को तंबाकू  के सेवन से होने वाली हानियों के बारे में जागरूक करने को कहा, जिससे तंबाकू के सेवन की बुराई को समाप्त किया जा सके। शिविर के दौरान पाठशाला के छात्रों ने भी भाषण व पेपर रीडिंग के माध्यम से तंबाकू से होने वाली हानियों पर अपने विचार रखे। स्वास्थ्य विभाग की ओर से भाषण व पेपर रीडिंग में हिस्सा लेने वाले छात्रों को पुरस्कृत भी किया गया। इस मौके पर पाठशाला के प्रिंसीपल व स्टाफ मंेबर सहित काफी तादाद में छात्रों ने हिस्सा लिया।

You might also like