उम्मीदवारों का नाम तक नहीं जानते पोलिंग एजेंट

नई दिल्ली -वे पोलिंग एजेंट हैं, यहां तक तो ठीक है, लेकिन समस्या तब खड़ी होती है जब पता चलता है कि उन्हें अपने उम्मीदवार का नाम तक याद नहीं है जिसके लिए उन्हें वहां नियुक्त किया गया है। यह विचित्र घटना सोमवार को लोकसभा चुनाव के पांचवें चरण के मतदान के दौरान हावड़ा लोकसभा क्षेत्र में शिवपुर विधानसभा में एक मतदान केंद्र पर घटित हुई। बूथ संख्या 157 पर जब मीडिया के लोग आए, तो उन्होंने पाया कि वहां तृणमूल कांग्रेस का पोलिंग एजेंट मौजूद है। उनके साथ निर्दलीय उम्मीदवारों के कुछ अन्य पोलिंग एजेंट भी उपस्थित थे। कहानी में मोड़ तब आया जब मीडिया कर्मियों ने वहां एक मध्यम आयु की महिला पोलिंग एजेंट से बात की। उससे जब पूछा गया कि वे किस उम्मीदवार की एजेंट हैं तो वे कोई जवाब नहीं दे पाईं। इसके बाद शर्मिंदा होते हुए महिला अपने बगल में बैठे एजेंट से उसका नाम पूछने लगी, उसका क्या नाम है? हालांकि, वह शख्स भी उसकी मदद नहीं कर पाया। जब पत्रकारों ने महिला से पूछा कि क्या उन्हें उम्मीदवार का नाम पता हैं, तो महिला बुदबुदाई, हां, पता है। लेकिन फिर भी वह अपने उम्मीदवार का नाम नहीं बता पाई।

 

 

You might also like