ऊना में वोटर्स को बांटी मतदाता स्लिप

ऊना—लोकसभा चुनाव के दृष्टिगत मतदाताओं को वोटर स्लिप (मतदाता पर्ची) पहुंचाने का कार्य लगभग पूरा हो गया है। जिला निर्वाचन अधिकारी व उपायुक्त ऊना राकेश कुमार प्रजापति ने बताया कि बूथ लेवल ऑफिसर (बीएलओ) के माध्यम से जिला के चार लाख से अधिक मतदाताओं को वोटर स्लिप पहुंचाने का जिम्मा सौंपा गया था। जिसे 90 फीसदी तक पूरा कर लिया गया है। उन्होंने कहा कि जिला ऊना के लगभग 90 फीसदी मतदाताओं को वोटर स्लिप दे दी गई है। उपायुक्त ने बताया कि जो मतदाता अब तक किसी भी कारणवश अपनी वोटर स्लिप प्राप्त नहीं कर सके हैं, उनकी वोटर स्लिप स्थानीय बीएलओ के पास उपलब्ध हैं और वह किसी भी समय उनसे प्राप्त कर सकते हैं।

वोटर स्लिप नहीं होगा पहचान का आधार

जिला निर्वाचन अधिकारी ने बताया कि इस बार लोकसभा चुनाव के दौरान मतदाता वोटर स्लिप को मतदाता पहचान के रूप में इस्तेमाल नहीं कर पाएंगे। बल्कि पहचान के लिए भारत निर्वाचन आयोग द्वारा निर्धारित 12 तरह के दस्तावेज जैसे मतदाता पहचान पत्र, पासपोर्ट, ड्राइविंग लाइसेंस, सर्विस पहचान पत्र, फोटो सहित बैंक या डाकघर द्वारा जारी पासबुक, पैन कार्ड, श्रम मंत्रालय की योजना के अंतर्गत जारी स्मार्ट कार्ड, मनरेगा जॉब कार्ड, श्रम मंत्रालय की योजना के अंतर्गत जारी स्वास्थ्य बीमा स्मार्ट कार्ड, फोटो सहित पेंशन दस्तावेज, सरकारी पहचान पत्र व आधार कार्ड शामिल है में किसी एक दस्तावेज को अपने साथ ले जाना सुनिश्चित करें, तभी मतदाता अपना वोट डाल पाएगा।

मोबाइल ऐप-टोल फ्री नंबर से पाएं जानकारी

राकेश कुमार प्रजापति ने बताया कि चुनाव आयोग ने वोटर हेल्पलाइन मोबाइल ऐप भी जारी की है, जिसे किसी भी स्मार्ट फोन पर डाउनलोड किया जा सकता है। इस ऐप से माध्यम से कोई भी मतदाता कई तरह की जानकारियां हासिल कर सकता है। इसके अलावा टोल फ्री नंबर 1950 पर कॉल कर सकते हैं।

You might also like