ऊना में सूर्यदेव बरस रहे आग

ऊना—ऊना में सूर्यदेव आग उगलने लगे हैं। इसके चलते तापमान में भी लगातार बढ़ोतरी हो रही है और कर्फ्यू जैसे हालात पैदा हो गए हैं। गुरुवार इस सीजन का सबसे गर्म दिन रहा और जिला का अधिकतम तापमान 44 डिग्री सेल्सियस को भी पार कर गया। सूर्यदेव के प्रकोप के चलते लोग घरों में दुबकने को मजबूर हो गए हैं। सुबह आठ बजे से लेकर सायं छह बजे तक सूर्य का रौद्र रूप देखने को मिल रहा है। बढ़ती गर्मी के चलते जिला प्रशासन ने ऊना में स्कूलोें की समयसारिणी में भी बदलाव किया था। लेकिन इस प्रचंड धूप के आगे छात्र स्कूल से घर पहंुचने के लिए बेबस होते दिख रहे हैं। कुछ कदम चलने पर ही कंठ सूखने लगता है और चक्कर भी आने लगते हैं। चिल्लचिलाती धूप से जिला के बाजारों से रौनक गायब हो गई है। बढ़ते पारे के आगे पंखे व कूलर भी जवाब देने लग पड़े हैं और गर्म हवा दे रहे हैं। तेज धूप व गर्म हवाओं के बीच दोपहिया वाहनों के पहिए भी थमकर रह गए हैं। लू के थपेड़ों से बचने के लिए लोग ठंडे पदार्थों को सेवन कर रहे हैं। लोग शाम करीब साढ़े छह बजे के बाद ही घरों से बाहर निकल रहे हैं। वहीं, चिकित्सक भी तेज धूप में बाहर न निकलने की सलाह दे रहे हैं। जिला स्वास्थ्य अधिकारी डा. निखिल ने बताया कि तेज धूप में बाहर न निकलें। अगर कहीं जरूरी काम से जाना पड़ रहा है तो अपने साथ पानी की बोतल अवश्य रखें। फुलबाजू की कमीज पहनें। आंखों पर गोगल्स लगाएं। जिला मौसम अधिकारी विनोद कुमार ने बताया कि गुरुवार को जिला का अधिकतम तापमान 44.2 डिग्री दर्ज किया गया, जो कि इस सीजन का सबसे अधिक है। वहीं न्यूनत्तम तापमान 19.8 डिग्री रिकार्ड किया गया है।

You might also like