एचआरटीसी को हर साल चाहिए 200 करोड़

हिमाचल परिवहन मजदूर संघ ने सरकार से मांगा बजट, रोडवेज बनाने के लिए उठाई आवाज

 कांगड़ा -हिमाचल परिवहन मजदूर संघ ने निगम के लिए सालाना दो सौ करोड़ रुपए के बजट का प्रावधान करने की मांग उठाई है। संघ के पदाधिकारियों ने सरकार से मांग उठाई है कि पंजाब तथा हरियाणा रोडवेज की तर्ज पर इसका प्रावधान किया जाए। इससे घाटे में चल रही निगम की बसों तथा आर्थिक तंगी से जूझ रहे सेवानिवृत्त कर्मचारियों को राहत मिल सके। हिमाचल परिवहन मजदूर संघ के प्रदेशाध्यक्ष जसमेर राणा ने कहा कि चंबा में संघ का राज्य स्तरीय अधिवेशन 28-29 मई को आयोजित किया जा रहा है, जिसमें संघ के पिछले तीन माह के कार्यों का ब्यौरा रखने के साथ भविष्य में किए जाने वाले कार्यों की रूपरेखा तैयार की जाएगी। संघ द्वारा विभिन्न प्रस्तावों पर चर्चा करने के बाद पारित भी किया जाएगा और सरकार को सौंपा जाएगा। श्री राणा ने कहा कि निगम में मौजूदा समय में चालक-परिचालकों सहित विभिन्न कर्मचारियों के पद रिक्त पड़े हुए हैं। संघ ने प्रदेश सरकार से मांग उठाई है कि निगम में परिचालकों की भर्ती आउटसोर्स के माध्यम से न की जाए। एचआरटीसी के डिपुआें में खड़ी जंग खा रही करीब 850 नीली बसों को चलाने की मांग सरकार से उठाई है। उन्होंने मांग की है कि महिला परिचालकों की भर्ती की पॉलिसी को बंद किया जाए या इन्हें बसों में बतौर परिचालक तैनात किया जाए। प्रदेश के पर्यटन स्थलों से चल रही अवैध वोल्वो बसों पर शिकंजा कसा जाए।

You might also like