एचपीयू में छात्रों को पार्किंग जल्द

विश्वविद्यालय प्रशासन ने प्लान तैयार करने के दिए निर्देश

शिमला -हिमाचल प्रदेश विश्वविद्यालय में छात्रों को अब पार्किंग की समस्या से नहीं जूझना पड़ेगा। विश्वविद्यालय प्रशासन ने छात्रों और गैर शिक्षकों के लिए पार्किंग बनाने के लिए प्लान तैयार करने के निर्देष जारी कर दिए हैं। विश्वविद्यालय के  लोक निर्माण विभाग को पार्किंग व्यवस्था करने के लिए जगह चयन करने को कहा गया है। बता दें कि विश्वविद्यालय परिसर में जब से बिना आरसी और पास के गाडि़यों का अंदर आना बैन किया गया है, तब से छात्रों और शिक्षकों की दिक्कतें बढ़ गई हैं। एचपीयू में आने वाले छात्र व कई गैर शिक्षक कर्मचारी अपनी गाडि़यां एचपीयू में नहीं ला पा रहे हैं। यही वजह है, कि विश्वविद्यालय प्रशासन छात्रों की सुविधा के लिए एचपीयू की डिमार्केशन में निकली जमीन पर पार्किंग बनाने की योजना बना रहा है। बताया जा रहा है कि यहां छात्र निःशुल्क अपनी गाडि़यों को पार्क कर सकते हैं। दरअसल एचपीयू की डिमार्केशन में 40 से 45 बीघा जमीन आइडेंटीफाई हुई है। इस जमीन पर एचपीयू ने फिलहाल साइन बोर्ड लगा दिए हैं। बताया जा रहा है कि आचार संहिता खत्म होने के बाद यहां पर पार्किंग स्थल विश्वविद्यालय बनाएगा। उल्लेखनीय है कि विवि परिसर के गेट के पास ड्यूटी पर तैनात पुलिस कर्मी हर वाहन चालक के पास चैक कर रहे हैं। ऐसे में विवि के ही कई कर्मचारी ऐसे भी हैं, जिन्हें सुरक्षा कर्मिंयों से पास जारी नहीं हुए हैं। यही वजह है कि विवि का अधिकतर स्टाफ पास न होने की वजह से अपनी गाड़ी परिसर में कई दिनों से पार्क नहीं कर पा रहा है। जानकारी के अनुसार विवि प्रशासन ने विवि में शांत माहौल बनाने के मकसद से परिसर में हर किसी वाहन के आने जाने पर रोक तो लगा दी थी, लेकिन स्टाफ के लोगों को ही कोई दिक्कतें न आएं, इस बारे में व्यवस्था करना ही भूल गया। यही वजह है कि विवि के फायदे के लिए शुरू की गई यह सुविधा अब कर्मचारियों के लिए गले की फांस बनकर रह गई है।

 

You might also like