एनएच-5 का जाम… कई युवाओं के सपने तोड़े

कसौली—राष्ट्रीय राजमार्ग-पांच पर फोरलेन निर्माण के काम ने कई युवाओं के एचएएस बनने के सपने को धराशायी कर दिया। रविवार को जिला मुख्यालय सोलन के विभिन्न परीक्षा केंद्रों पर एचएएस की परीक्षा को सुबह साढ़े नौ बजे रखा गया था। परीक्षा के निर्धारित समय पर परवाणू-सोलन एनएच व कसौली के वैकल्पिक मार्गों पर जाम में फंसे कई युवा नहीं पहुंच पाए। कई युवा परीक्षा केंद्र में कदम भी नहीं रख सके, और जिन्होंने देरी से कदम रखा भी उन्हें परीक्षा में बैठने ही नहीं दिया गया। युवाओं ने इसका ठीकरा फोरलेन निर्माता कंपनी व खराब ट्रैफिक मैनेजमेंट पर फोड़ा।इन युवाओं ने मांग की है कि इन्हें दोबारा एचएएस की परीक्षा में बैठने का मौका दिया जाए। बरोटीवाला से परीक्षा देने आए राहुल ठाकुर ने कहा कि वह मुंबई से छुट्टी लेकर खास तौर पर सोलन में एचएएस की परीक्षा देने आए थे। वह सुबह छह बजे घर से निकले थे। पहले परवाणू में रोके जाने के बाद वह कसौली के वैकल्पिक मार्ग से एलआर में परीक्षा के लिए गाड़ी लेकर जाने लगे। जाम में फंसने के बाद उन्होंने अपने साथी से मोटरसाइकिल मंगवाकर परीक्षा केंद्र परिसर में 11 बजे प्रवेश किया। जहां उन्हें देरी से आने पर परीक्षा को नहीं देने दिया गया। नालागढ़ से आए सतविंद्र व नेहा ने कहा कि काफी लोग चंडीगढ़ व दूसरे राज्यों से इस परीक्षा को देने के लिए आए पर जाम में ही फंसकर रह गए। उन्होंने कहा कि ट्रैफिक को रात नौ बजे से सुबह चार बजे तक बंद रखने की सूचना दी गई थी। इसके बावजूद भी एनएच पर करीब 11 घंटे आवाजाही बंद रखी गई। जिस कारण वह परीक्षा नहीं दे पाए।

You might also like