एयर क्वालिटी फिर नंबर वन

शिमला में मार्च और अप्रैल में वायु में प्रदूषण की मात्रा निकली बेहद कम

शिमला -राज़धानी की एयर क्वालिटी फिर से बेस्ट आंकी गई है। पीसीबी की रिपोर्ट मंे मार्च और अप्रैल मंे हवा की गुणवत्ता बहुत ही अच्छी रही है, जो बीते कई वर्षों के मुक ाबले बेस्ट क्वालिटी की रेंज मंे आई है। प्रदेश भर के सभी क्षेत्रांे की एयर क्वालिटी पर गौर करें तो पहाड़ांे की रानी मंे धूल की मात्रा सबसे कम आंकी गई है। उधर, इस बार शिमला मंे बारिश भी ज्यादा हुई है, जिसके कारण वायु की रिपोर्ट काफी बेहतर आ रही है। जानकारी के मुताबिक इस दौरान यह मात्रा 40 से 44 माइक्रोग्राम पर क्यूबिक मीटर आंकी गई है। यह भी रिकॉर्ड मंे आ रहा है कि बीते पांच वर्ष मंे यह धूल की मात्रा बेहद ही कम देखी जा रही है। वहीं, आरएसपीएम 66 आंका गया है। एसआर 3.1 आंका गया है। इन दोनांे माह मंे यह डाटा कई बार रिकॉर्ड मंे आंका गया है। हालांकि अभी रिज़ पर एयर क्वालिटी के लिए टेस्टिंग मशीन नहीं चल रही है। लेकिन अब एमसी ने भी कहा है कि रिज पर जल्द ही मशीन चल पाएगी, जिससे रिज़ की गुणवत्ता का भी पता चल पाएगा। फिलहाल शिमला के अन्य मुख्य स्टेशन जहां यह वायु की गुणवत्ता को आंका गया है उसमंे बस स्टैंड की गुणवत्ता का विशेष तौर पर जाएजा लिया गया, जिसमंे एयर की क्वालिटी सबसे ज्यादा देखी गई है। बताया जा रहा है कि शिमला मंंे धूल के कण सबसे कम देखे गए हैं। इस बात को विशेषज्ञ भी मानते हंै कि शिमला की हवा स्वास्थ्य के लिए काफी बेहतर है। अब शिमला मंे घूमना भी काफी सेहतमंद है, जो विशेषत सांस के रोगियांे के लिए काफी लाभप्रद साबित हो सकता है।

 

You might also like