ओडिशा के पीडि़तों को हिमाचल से जाएगा भोजन

चक्रवात प्रभावितों को आईएचबीटी पालमपुर भेजेगा 20 टन रेडी-टू-ईट खाद्य सामग्री, दाल-चावल-आलू मिक्स और पौष्टिक बार

पालमपुर – ओडिशा में आए चक्रवात से प्रभावित लोगों के लिए हिमालय जैवसंपदा प्रौद्योगिकी संस्थान ने मदद के हाथ बढ़ाए हैं। पालमपुर स्थित आईएचबीटी संस्थान (इंस्टीच्यूट ऑफ हिमालयन बायोरिसोर्स टेक्नोलॉजी) फोनी चक्रवात प्रभावित क्षेत्रों में पीडि़तों के लिए 20 टन रेडी-टू-ईट डिब्बाबंद भोजन तैयार कर रहा है। इसमें दाल-चावल-आलू मिक्स उत्पाद की एक लाख यूनिट तथा प्रोटीनयुक्त बार शामिल है। संस्थान इन पदार्थों को तैयार कर रहा है और इसी सप्ताह यह सामग्री वहां स्थित सीएसआईआर संस्थान को भेज दी जाएगी। गौर रहे कि फोनी चक्रवात ने तीन मई को ओडिशा के अनेक तटीय क्षेत्रों को बुरी तरह प्रभावित किया था व करीब दस लाख लोगों को वहां से सुरक्षित निकाला गया है। ऐसे में विस्थापितों के लिए पौष्टिक और रेडी-टू-ईट पदार्थों को तैयार करने की तत्काल आवश्यकता है। अनुसंधान और विकास कार्यक्रम के रूप में पालमपुर स्थित आईएचबीटी संस्थान ने पारंपरिक खाद्य उत्पादों और कुपोषण तथा जीवन शैली से संबंधित विकारों को लक्षित करने के लिए अनेक रेडी-टू-ईट खाद्य पदार्थों के व्यावसायिक उत्पादन हेतु प्रौद्योगिकियां विकसित की गई हैं, जिसमें एनर्जी बार, उच्च प्रोटीन पेय मिश्रण, स्पिरुलिना और शिटाके आधारित खाद्य और मूल्यवर्धित चाय उत्पाद प्रमुख हैं। इससे पूर्व अगस्त, 2018 में केरल बाढ़ त्रासदी के दौरान भी आईएचबीटी संस्थान ने रेडी-टू-ईट खाद्य उत्पाद भेज कर मदद की थी। डा. संजय कुमार, निदेशक, आईएचबीटी ने बताया कि संस्थान के पास वैश्विक मानकों के रेडी-टू-ईट खाद्य पदार्थ तैयार करने की तकनीक है। इस प्रकार की दुखद परिस्थितियों में राष्ट्रीय संस्थानों का दायित्व बनता है कि वे आगे आएं और अपनी प्रौद्योगिकियों व उत्पादों से अपनी समर्था के अनुसार प्रभावित जनसमुदाय की सहायता करें।

You might also like